दबंग भूमाफियाओं का एक और कारनामा आया सामने







बिन माता-पिता के मासूमों की जमीन पर कर रहे कब्जे का प्रयास

डीएम से मिलकर रिश्तेदारों ने की कार्रवाई की मांग।

अहमद हुसैन 

 सरधना थाना क्षेत्र के गांव नवाब गढ़ी स्थित मासूम बच्चों की भूमि पर क्षेत्र के भूमाफियाओं नजर पड़ी तो उन्होंने  दबंगई से उक्त भूमि पर कब्जे के प्रयास शुरू कर दिए इसके बाद मासूम बच्चों ने अपने रिश्तेदारों के साथ तहसील दिवस मैं पहुंच कर दम से कार्यवाही करने की मांग की है तथा अपनी और बच्चों की सुरक्षा के लिए भी गुहार लगाई है 
 अधिकारीयों ने मामले की जाँच संबंधित अधिकारीयों को सौंपी है और पीड़ित को शीघ्र ही कार्रवाई करने का आश्वासन दिया है। नगर के मोहल्ला घोसियान निवासी शहजाद पुत्र बशीर ने बताया कि उसकी माता श्रीमति रशीदन भाई अकबर व कल्लू खसरा संख्या- 2549, 2550 के सहखातेदार काबिज व दखिल है जो सरधना नगर पालिका हुदूद में स्थित है । तथा कुछ जमीन सरधना देहात के खसरा  नं० 166/1 पर है जो कि हसमत पत्नि अबकर व मन्नो पत्नी अशरफ  उर्फ कल्लू तथा तरन्नुम पत्नि मुनतियाज व फरहा पत्नि समीर उर्फ सोनू निवासी घोसियान काबिज व मालिक है। उक्त जमीन विक्रय पत्रो द्वारा क्रय की गयी थी जिसमें  रशीदन, अकबर व कल्लू की मृत्यु हो चुकी है. उनके वारिसान उन पर बतौर विरासत काबिज है। शहज़ाद ने बताया कि  ग्राम कुशावली के कुछ दबंग लोग उक्त भूमि पर जबरदस्ती कब्जा करने पर आमादा है। जो आये दिन अपने साथ 20-25 अज्ञात लोगो को लेकर वहां आते है और उनकी भूमि पर कब्जा करने का प्रयास करते रहते है। उनके द्वारा रोके जाने पर आमादा फौजदारी होते है तथा गन्दी -2 गालिया देते है। जिसके चलते उसका परिवार भयभीत है। इससे पूर्व भी वह पुलिस प्रशसन के अधिकारीयों को प्रार्थना पत्र देकर कार्रवाई की मांग के साथ सुरक्षा की गुहार लगा चुके है लेकिन आज तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है जिसके चलते दबंग भू माफियाओं के हौसले बुलंद है। पीड़ित शाहज़ाद ने  इन्साफ की गुहार लगायी है शहज़ाद का कहना है की अधिकारी मौके पर जाकर कागजात की जाँच करले और दबंगों पर कार्रवाई करते हुए उन्हें दहशत के माहौल से मुक्ति दिलाने का काम करें।

 

Popular posts from this blog

मदरसों को बंद करने की रची जा रही साजिश.. जमियत ने नोटिसो को बताया साजिश

गंधक व पोटाश मिलाते समय किशोर की मौत

श्री द्रोणाचार्य पी जी कॉलेज दनकौर के इतिहास विभाग द्वारा किया गया नवाचार