मीट बेचने के लाइसेंस न बनाये जाने का मामला पंहुचा माइनॉरिटी कमीशन, भाजपा नेता ने दी दस्तक



लखनऊ। भाजपा अल्पसंख्यक आयोग की प्रदेश कार्यसमिति सदस्य काज़ी शादाब ने  राज्य अल्पसंख्यक आयोग अध्यक्ष अशफ़ाक़ सैफी से मुलाक़ात  कर  मेरठ के मीट विक्रेताओं के लाईसेन्स बनवाये जाने की मांग की हैं। मेरठ जिले में लाखों की संख्या में मुस्लिम समाज के लोग रहते है जो ज्यादातर भैंस का मीट खाते है। शहर में भैंस का मीट बेचने के लिए कई व्यापारियों ने अपनी दुकानें खोल रखी है। इनमें से ज्यादातर मीट व्यापारियों ने खाद्य / सुरक्षा विभाग से लाईसेन्स लेने के लिए नियमानुसार आवेदन किया हुआ है परन्तु मेरठ का खाद्य / सुरक्षा विभाग मीट विक्रेताओं को बिना किसी कारण के लाईसेन्स जारी नही कर रहा है। जबकि ज्यादातर मीट विक्रेताओं ने अपनी दुकानों को उ०प्र० शासन के मानक के अनुसार परिवर्तित भी करा लिया है और कागजी कार्यवाही भी पूरी कर ली गयी है परन्तु फिर भी जानबूझकर खाद्य / सुरक्षा विभाग मीट विक्रेताओं को लाईसेन्स जारी नही कर रहा है। लाईसेन्स न होने के कारण मीट विक्रेताओं को पुलिस परेशान करती है जिससे उनका आर्थिक व मानसिक उत्पीड़न होता है तथा शहर की जनता को मीट आसानी से नहीं मिल पाता है। ज्ञापन लखनऊ इंदिरा भवन स्थित आयोग के कार्यालय में दिया गया l इस दौरान दिलदार सैफी,सरफराज कुरैशी,असलम सैफी,हाजी गुलफाम आदि मौजूद रहे।


Popular posts from this blog

मदरसों को बंद करने की रची जा रही साजिश.. जमियत ने नोटिसो को बताया साजिश

भोकरहेड़ी में भारी सुरक्षा के बीच निकाली गयी बालाजी शोभायात्रा, कस्बे में हुआ भव्य स्वागत

गंधक व पोटाश मिलाते समय किशोर की मौत