स्वच्छता जागरूकता एवं श्रमदान के अंतर्गत लेखन प्रतियोगिता का आयोजन किया गया



फरीद अंसारी

जनसठ।नेहरू युवा केंद्र, मुजफ्फरनगर (युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय, भारत सरकार) द्वारा जिला युवा अधिकारी प्रतिभा शर्मा   के  दिशा निर्देशन म राष्ट्रीय युवा स्वयंसेवक मोहित कुमार  के द्वारा विकासखण्ड जानसठ के  ग्राम कवाल के उच्च  प्रथमिक  कन्या विद्यालय मे स्वच्छता जागरूकता एवं श्रमदान के अंतर्गत   लेखन प्रतियोगिता का आयोजन किया गया जिसमें बच्चों ने एक से बढ़कर एक  चित्रकला बनाई प्रथम स्थान कु0 किरण वह दूसरा स्थान आयशा एवं तृतीय स्थान  नृत्य सैनी ने प्राप्त किया। 

  अध्यापक अनुपम शर्मा ने  स्वच्छता के बारे में  बालिकाओं को बताया की  कौन सा  कचरा कौन से कूड़ेदान में डालना है ।

नगर में रहने वाले परिवारों को सूखा और गीला कूड़ा अलग-अलग कूड़ेदान में रखना होगा। गीले कचरा के लिए कूड़ेदान का रंग हरा होगा तो सूखे कूड़े के लिए नीले रंग का कूड़ेदान रखा जाएगा। नगर को साफ-सुथरा रखने के लिए यह नगर पालिका की एक अनूठी पहल होगी। इसके लिए पालिका कुछ लोगों को अमृत योजना के तहत डस्टबिन भी वितरित करेगी।

शहर के लोगों के जीवन स्तर को ऊपर उठाने के मकसद से अमृत योजना चलाई जा रही है। जिसमें पार्कों का निर्माण, पेयजल, सीवर व्यवस्था को दुरुस्त करने का काम चल रहा है तो बिजली की बचत के लिए भी अधिकारी काम कर रहे हैं। परंतु अब प्रत्येक परिवार को हरे व नीले कूड़ेदान में कचरा रखना होगा। प्लास्टिक, कांच, पन्नी आदि कचरा नीले कूड़ादान में तो भोजन, सब्जी, फल के छिलके हरे कूड़ेदान में डलवाएं जाएंगे। जिससे लोगों को इनमें अंतर समझ आ सके और लोग खाने पीने की चीजों को बर्बाद ना करें। क्योंकि खाने पीने की चीजों में प्लास्टिक, कांच आदि मिल जाता है और फिर पशु इन्हें भी खा लेते हैं। इसलिए इन वस्तुओं से बचाव जरूरी है। इस अभियान में कोई दिक्कत ना आए, इसके लिए पालिका कुछ परिवारों को कूड़ेदान उपलब्ध कराएगी। इससे लिए अधिकारी भारत सरकार को पत्र भी लिखने जा रहे हैं।

 जिसमें प्रधानाचार्य आसेफा  बेगम ने बच्चों को  पुरस्कार देकर सम्मानित किया  अध्यापक नीरू, एवं अध्यापक रविकांत का विशेष सहयोग रहा।

Popular posts from this blog

शादी में दिखावे की हदे पार, लड़की पक्ष ने विवाह स्थल पर लगवाया फ्लैस्क, लिखा :- गाडी के साढे 7 लाख नकद दिए दूल्हे को

इस्लामिया इंटर कालिज के वजूद पर खतरा मंडराया

समाज को शिक्षित व सुरक्षित रखने का संदेश दिया