बिहारगढ़ चिल्लागाह पर मनाया गया ईदमिलादुन्नबी का जश्न

 पीरान कलियर शरीफ के लिये जायरीनो का जत्था चादर लेकर हुआ रवाना 



काज़ी अमजद अली


मुज़फ्फरनगर :-- ईद मिलादुन्नबी के मौके पर बिहार गढ़ चिल्ला गाह  शरीफ पर एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें जिक्रे इलाही, तिलावते कुराने पाक, फातिहा ख्वानी की गई तथा फलों के रूप में तबर्रुक का वितरण हुआ । कार्यक्रम के उपरांत जायरीनों का एक जत्था पवित्र चादर लेकर कलियर शरीफ के  लिये रवाना हो गया।



             मुज़फ्फरनगर के मोरना के क्षेत्र के गाँव बिहारगढ़ में स्थित चिल्लागाह शरीफ़ पर जश्ने  ईदमिलादुन्नबी का पर्व गत वर्षों की तरह अक़ीदत के साथ मनाया गया। रविवार की सुबह सवेरे फजिर की नमाज़ के बाद  ज़िक्रे इलाही,दरूद ए पाक व कुरान ए पाक की तिलावत की गयी तथा फातिहा की गई।






दरगाह हज़रत ख्वाजा खुशहाल मियाँ के सज्जादा नशीं हज़रत सूफी जव्वाद अहमद खुशहाली ने कहा कि पैगम्बर मुहम्मद साहब का पैगाम तमाम इंसानो के लिये है।ईमानदार,अमानतदार,दयाभाव,व्यवहार कुशलता प्रत्येक इंसान के आचरण  में होनी चाहिये।अल्लाह का ज़िक्र व इबादत इन्सान को बुराई करने से रोकते हैं।रोज़गार के लिये जिस तरह व्यवसायिक शिक्षा ज़रूरी है। वैसे ही उच्च आचरण व सँस्कारशील होने के लिये मज़हबी शिक्षा भी आवश्यक है।व्यवसाय में भी ईमानदारी व अमानतदारी होगी तो वह कामयाब  होगा। अल्लाह व उसके नबी का  करम व फैज़ सभी इंसानो के लिये है।कार्यक्रम के उपरान्त तबर्रुक का वितरण किया गया।इस मौके पर मुख्य रूप से ग्राम प्रधान संजय चौहान, सूफी दिलनवाज़ खान,सूफी मौलाना साजिद,सूफी रईस अहमद,सूफी मौ.सलीम,खुर्शीद आलम,सरदार भगवन्त सिंह,सरदार शेर सिंह,मनोज कुमार आदि मौजूद रहे।

Popular posts from this blog

शादी में दिखावे की हदे पार, लड़की पक्ष ने विवाह स्थल पर लगवाया फ्लैस्क, लिखा :- गाडी के साढे 7 लाख नकद दिए दूल्हे को

इस्लामिया इंटर कालिज के वजूद पर खतरा मंडराया

समाज को शिक्षित व सुरक्षित रखने का संदेश दिया