उर्दू विभाग में मनी की अदबी दिवाली, गूंजे कुरान और गणेश वंदना के अल्फाज़





मेरठ। सीसीएस यूनिवर्सिटी में उर्दू विभाग के साप्ताहिक ऑनलाइन कार्यक्रम "अदब नुमा" में "अदब और दिवाली" शीर्षक से एक संगोष्ठी का आयोजन किया गया, जिसकी अध्यक्षता आरिफ नकवी, जर्मनी ने की,जिसमें मुख्य अतिथि के तौर पर रामपुर से प्रो. शरीफ अहमद कुरैशी, डॉ. रामगोपाल भारतीय, डॉ. ईश्वर चंद गंभीर, गजल गायक मुकेश तिवारी शामिल रहे। कार्यक्रम  की शुरुआत कुराने पाक की तिलावत और गणेश एवं सरस्वती वंदना से हुई। डॉ. शादाब अलीम ने मेहमानों का स्वागत किया, डॉक्टर आसिफ अली ने उनका परिचय पेश किया। कार्यक्रम का संचालन डॉ. अलका वशिष्ठ ने किया। विभाग की छात्राओं रूजा खान और शबनम ने नजीर अकबराबादी और नसीर बनारसी की दिवाली से संबंधित नज्में प्रस्तुत की। डॉ.शरीफ ने अदब में दिवाली के महत्व को दर्शाते हुए अपनी शायरी में  दीपावली  के रंग को पेश किया और बताया कि की हिंदुस्तान की गंगा जमुनी तहजीब हमेशा से कायम रही है। दीपावली किसी एक वर्ग का हिस्सा नहीं बल्कि अंधेरे से उजालों की ओर चलने वाला एक रास्ता है जो सदियों से कायम रहता आया है और रहेगा।'' प्रो. असलम जमशेदपुरी ने दिवाली से जुड़े अपने अनुभवों सबके साथ साझा किया और बताया उर्दू शायरों और हिंदी कवियों ने किस प्रकार अदब में दिवाली को शामिल किया है। आयुसा की अध्यक्षा डॉ. रेशमा परवीन ने कहा कि सबके जीवन हर पल इसी प्रकार दीयों की रोशनी की तरह ज्ञान का उजाला फैला रहे।अपने अध्यक्षीय अभिभाषण में श्री आरिफ नकवी ने कहा कि हम सब हिंदुस्तानी तहजीब का एक अहम हिस्सा है और यह त्योहार हमें आपस में जोड़ने का एक माध्यम है। जिस प्रकार एक चिराग अंधेरे को दूर करता है, उसी प्रकार से चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय का उर्दू विभाग इस प्रकार के आयोजनों द्वारा एक दूसरे को जोड़ने का कार्य कर रहा है। इसके लिए प्रो. असलम जमशेदपुरी बधाई के हकदार हैं । अंत में डॉ. इरशाद अली ने सबका शुक्रिया अदा किया। कार्यक्रम को सफल बनाने में सईद सहारनपुरी, मुहम्मद शमशाद, फैजान जफर, फरहा नाज, गुलनाज, मरियम, शिफा खान, नायाब खान, मोहम्मद इमरान आदि का सहयोग रहा। 



Popular posts from this blog

शादी में दिखावे की हदे पार, लड़की पक्ष ने विवाह स्थल पर लगवाया फ्लैस्क, लिखा :- गाडी के साढे 7 लाख नकद दिए दूल्हे को

इस्लामिया इंटर कालिज के वजूद पर खतरा मंडराया

समाज को शिक्षित व सुरक्षित रखने का संदेश दिया