उत्तर प्रदेश सरकार से वाल्मीकि जयंती का अवकाश बहाल करने की मांग



मुजफ्फरनगर। उत्तर प्रदेश सरकार से  वाल्मीकि जयंती पर अवकाश बहाल करने की मांग करते हुए जिलाधिकारी को ज्ञापन दिया गया। वाल्मीकि समाज के लोगो ने मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन देते हुए बताया कि 9 अक्टूबर को तमाम देश में वाल्मीकि जयंती का पर्व बड़े धूमधाम के साथ मनाया जायेगा और समाज द्वारा पूजा पाठ, जागरण, भंडारा, शोभायात्रा का आयोजन बड़ी उत्साह के साथ प्रति वर्ष किया जाता है, परन्तु उत्तर प्रदेश सरकार ने वाल्मीकि जयंती का अवकाश कई वर्ष पूर्व निरस्त कर दिया था जिससे वाल्मीकि समाज के युवा, बच्चे, एवम नौकरी पेशा व्यक्ति आयोजन में शामिल नही हो पाते हैं और धर्म लाभ लेने से वंचित रह जाते है। जबकि उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा  महापुरूषों एवम अन्य गुरु नानक देव जयंती, गांधी जयंती, तेग बहादुर जयंती, अंबेडकर जयंती, रविदास जयंती, गुड फ्राइडे, मोहर्रम, महावीर जयंती आदि का सार्वजनिक अवकाश घोषित है लेकिन प्रदेश सरकार द्वारा वाल्मीकि जयंती पर अवकाश घोषित ना करके वाल्मीकि समाज के साथ सौतेला व्यवहार किया जा रहा है जिससे वाल्मीकि समाज की धार्मिक भावनाओं को ठेस भी पहुंच रही है। वाल्मीकि समाज के लोगो ने जिलाधिकारी को ज्ञापन देते हुए वाल्मीकि जयंती पर अवकाश बहाली की माग की है। ज्ञापन देने के दौरान मनोज सौदाई एडवोकेट, मनुप्रिय मजदूर, सोनू सरवट वाल्मीकि, राजू प्रधान, सुधीर पारचा, प्रदीप झंझोट, प्रेम प्रकाश सुधा, अनुज बेनीवाल, सनी सिलेलान, अमित अटवाल, मोंटी घाघट, वीरेश शेरयार, प्रदीप कैसले, देवा, अमित शेरयार, श्रीमति जयशक्ति मेवाती आदि मौजूद रहे।

Popular posts from this blog

शादी में दिखावे की हदे पार, लड़की पक्ष ने विवाह स्थल पर लगवाया फ्लैस्क, लिखा :- गाडी के साढे 7 लाख नकद दिए दूल्हे को

शिक्षक सम्मान समारोह में पुष्पेंद्र चौधरी सहित 8 शिक्षकों को किया गया सम्मानित

अंजुमन तरक़्क़ी ए तालीम सादात बाहरा में अमजद अली को अध्यक्ष व मोहम्मद अफरोज को सचिव चुना गया