उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक ने करणपुर कलां में नई ब्रांच की शुरुआत की

 हम अपनी बैंकिंग मौजूदगी को बढ़ाना जारी रखेंगे: इत्तिरा डेविस 



अनूपशहर: उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक लिमिटेड ने जनपद बुलंदशहर क्षेत्र के करणपुर कलां में अपनी नई ब्रांच शुरू करने की घोषणा की। करणपुर कलां में उज्जीवन एसएफबी ब्रांच लगभग 5 किमी के दायरे में एकमात्र बैंक होगा, जो ग्राहकों को कस्टमाइज्ड बैंकिंग सॉल्यूशंस प्रदान करेगा और आकर्षक ब्याज दरों पर सावधि जमा (फिक्स्ड डिपॉजिट) तथा बचत खाते (सेविंग्स अकाउंट) की पेशकश करेगा और बाधारहित बैंकिंग की सुविधा प्रदान करेगा।

 

लॉन्च के बारे में बोलते हुए इत्तिरा डेविस (एमडी एवं सीईओ, उज्जीवन एसएफबी) ने कहा कि “हमें करणपुर कलां में बैंक रहित स्थान पर बैंक की ब्रांच की शुरु करने की घोषणा करते हुए खुशी हो रही है। आने वाले महीनों में, हम अपनी बैंकिंग मौजूदगी को बढ़ाना जारी रखेंगे, ताकि उन ग्राहकों को सेवा प्रदान की जा सके जिन्हें सेवा नहीं मिल पा रही है और जिन्हें जरूरत से कम सेवा के अवसर मिल रहे हैं; और इसके अलावा, हमारा उद्देश्य इन सेगमेंट के बीच वित्तीय समावेशन को बढ़ावा देना भी है। हमारी डिजिटल क्षमताओं को और बढ़ाने पर ध्यान देने के साथ ही, हमारा मुख्य ध्यान विस्तृत डिपॉजिट बेस बनाने की हमारी रणनीति पर बना रहेगा।उत्तर प्रदेश के ग्रामीण इलाकों में जहां बैंकिंग सेवाएं उपलब्ध नहीं हैं, उज्जीवन एसएफबी 4 नई शाखाएं शुरू कर रहा है, जिनका उद्देश्य इन दूरदराज के क्षेत्रों में ग्राहकों को बैंकिंग सेवाएं प्रदान करना है, क्योंकि इन क्षेत्रों में या तो बैंकिंग सेवाएं उपलब्ध नहीं है या जरूरत से कम उपलब्ध हैं। 

उज्जीवन एसएफबी के चीफ बिजनेस ऑफिसर, कैरल फर्टाडो ने कहा कि “हम बेस्ट-इन-क्लास सेवाएं प्रदान करने, दूरदराज की जगहों के ग्राहकों तक पहुंचने और उन्हें आवश्यक वित्तीय समाधान के साथ सक्षम करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। हम उत्पादों और सेवाओं की विस्तृत रेंज का ऑफर देते हैं जो बैंकिंग इकोसिस्टम के अंतर्गत बिना बैंक सुविधाओं वाले और जरूरत से कम सेवा अवसर हासिल कर पाने वाले ग्राहक वर्गों की जरूरतों को पूरा करेंगे। उत्पादों को गहन शोध के बाद डिजाइन किया गया है और यह उन क्षेत्रों में वित्तीय समावेशन के उद्देश्यों को पूरा करेगा, जिनको पूरा करना हमारा लक्ष्य है।'' बताया, बैंक वर्तमान में उत्तर प्रदेश में संचालित अपनी 31 शाखाओं के ज़रिये 3 लाख से अधिक ग्राहकों को सेवाएं प्रदान कर रहा है, जिसमें राज्य में बैंक रहित ग्रामीण स्थानों में संचालित हो रही 6 शाखाएं भी शामिल हैं। इसके साथ, बैंक की अब अखिल भारतीय स्तर पर, बैंकिंग सेवाओं से रहित ग्रामीण क्षेत्रों में 114 शाखाएं काम कर रही हैं।

Popular posts from this blog

गोरखपुर के कलक्टर विजय किरण आनंद व SSP पर NHRC में केस दर्ज

सिटी सेंटर में हुई लाखो की चोरी का खुलासा, महिला सहित 5 अरेस्ट, 31 मोबाइल व नकदी बरामद

शादी में दिखावे की हदे पार, लड़की पक्ष ने विवाह स्थल पर लगवाया फ्लैस्क, लिखा :- गाडी के साढे 7 लाख नकद दिए दूल्हे को