आकाश के 6 छात्रों ने जेईई मेन्स 2022 के पहले सत्र में पाए 99 प्रतिशत अंक

 







महामारी के कारण प्रभावित एकेडमिक वर्ष में छात्रों को जेईई में टॉप पर्सेटाइल पाने में सक्षम बनाने के लिए आकाश बायजूस ने अतिरिक्त प्रयास किया। हमने अपनी डिजिटल प्रजेंस को बढ़ाने की दिशा में काम किया, जिससे हम हमेशा अपने छात्रों के लिए उपस्थित रह सकें: आकाश

ग्रेटर नोएडा। ग्रेटर नोएडा में आकाश बायजू के 6 छात्रों ने जेईई मेन्स 2022 परीक्षा के पहले सत्र में 99 पर्सेंटाइल और उससे अधिक का प्रभावशाली स्कोर करके संस्थान और शहर को गौरवान्वित किया है। नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने नतीजे घोषित किए। यह इस साल आयोजित होने वाली इंजीनियरिंग के लिए दो संयुक्त प्रवेश परीक्षाओं में से पहली थी।


छात्रों को बधाई देते हुए आकाश चौधरी के मैनेजिंग डायरेक्टर आकाश बायजूस ने कहा, “हम इस उपलब्धि के लिए सभी छात्रों को बधाई देते हैं। शीर्ष स्कोरर अर्श श्रीवास्तव हैं, जिन्होंने 99.77, रोहन बंसल ने 99.64, शशांक पांडे ने 99.60, कशिश तलवार ने 99.56, चैतन्य टंडन ने 99.30 और दिव्यांशु प्रतीक ने 99.04 स्कोर किया। इन छात्रों ने आईआईटी जेईई क्रैक करने के लिए टू ईयर क्लासरूम प्रोग्राम के तहत आकाश इंस्टीट्यूट ज्वाइन किया था। इसे दुनिया की सबसे कठिन प्रवेश परीक्षाओं में से माना जाता है। उन्होंने कॉन्सेप्ट समझने के लिए किए गए अपने प्रयासों और लर्निंग शेड्यूल का पालन करते हुए टॉप पर्सेंटाइल के साथ जेईई की टॉप लिस्ट में अपनी जगह बनाई है। इस मौके पर छात्रों ने कहा, हम आकाश इंस्टीट्यूट के आभारी हैं, जिसने हमें दोनों तरह से मदद पहुंचाई। इंस्टीट्यूट की कंटेंट और कोचिंग के बाद हमें विभिन्न विषयों में अन्य कॉन्सेप्ट में उलझने की जरूरत नहीं पड़ी। देशभर से जेईई मेन 2022 के पहले सेशन के लिए 9 लाख से ज्यादा छात्रों ने रजिस्ट्रेशन कराया था। टॉप पर्सेंटाइल हासिल करने की उपलब्धि इन छात्रों के कठिन परिश्रम व समर्पण और उनके माता-पिता के सहयोग का परिणाम है। हम उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना करते हैं।“


उन्होंने आगे कहा, ‘महामारी के कारण प्रभावित एकेडमिक वर्ष में छात्रों को जेईई में टॉप पर्सेटाइल पाने में सक्षम बनाने के लिए आकाश बायजूस ने अतिरिक्त प्रयास किया। हमने अपनी डिजिटल प्रजेंस को बढ़ाने की दिशा में काम किया, जिससे हम हमेशा अपने छात्रों के लिए उपस्थित रह सकें। हमें स्टडी मैटेरियल और क्वेश्चन बैंक को ऑनलाइन उपलब्ध कराया। हमने वर्चुअल माध्यम से कई मोटिवेशनल सेशन और सेमिनार भी आयोजित किए, जिससे छात्रों को परीक्षा की तैयारी और टाइम मैनेजमेंट स्किल में मदद मिली। यह देखना सुखद एहसास है कि हमारे प्रयास सफल रहे और यह स्कोर शीट में हमारे छात्रों के प्रदर्शन से स्पष्ट है। इनमें से बहुत से छात्र उच्च शिक्षा के लिए अपनी पसंद के टॉप आईआईटी या एनआईटी या सरकारी इंजीनियरिंग कॉलेज में प्रवेश पाएंगे।‘

Popular posts from this blog

गोरखपुर के कलक्टर विजय किरण आनंद व SSP पर NHRC में केस दर्ज

सिटी सेंटर में हुई लाखो की चोरी का खुलासा, महिला सहित 5 अरेस्ट, 31 मोबाइल व नकदी बरामद

शादी में दिखावे की हदे पार, लड़की पक्ष ने विवाह स्थल पर लगवाया फ्लैस्क, लिखा :- गाडी के साढे 7 लाख नकद दिए दूल्हे को