प्रभावी कक्षा प्रबंधन पर दो दिवसीय कार्यशाला का आयोजन

 



शोभित इंस्टीट्यूट आफ इंजीनियरिंग & टेक्नोलॉजी डीम्ड टू बी विश्वविद्यालय के स्कूल ऑफ एजुकेशन में प्रभावी कक्षा प्रबंधन पर दो दिवसीय कार्यशाला का आयोजन  किया गया । जिसकी मुख्य वक्ता असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ नंदिता त्रिपाठी रही। डॉ नंदिता त्रिपाठी ने बहुत प्रभावी तरीके से प्रभावी कक्षा प्रबंधन की अवधारणा को

समझाया। डॉ त्रिपाठी ने बताया की प्रभावी कक्षा प्रबंधन तब होता है जब एक शिक्षक सकारात्मक छात्र व्यवहार को

प्रोत्साहित करने वाली रणनीतियों और तकनीकों की एक श्रृंखला के माध्यम से अपनी कक्षा पर पूर्ण नियंत्रण प्रदर्शित

करता है। डॉ त्रिपाठी ने बताया की प्रभावी कक्षा प्रबंधन का अभ्यास आपकी कक्षा को इष्टतम सीखने के माहौल में

बदल देता है जहां छात्र अपनी पढ़ाई के साथ जुड़ सकते हैं और अपनी क्षमता के अनुसार काम कर सकते हैं।

प्रभावी कक्षा प्रबंधन स्थापित करने में समय लगता है और  शिक्षक के व्यक्तित्व और पसंदीदा शिक्षण शैली

के आधार पर भिन्न होता है। यह पढ़ाए जा रहे विषय और आयु वर्ग से भी प्रभावित होता है। वास्तव में कक्षा प्रबंधन

के कई अलग.अलग प्रकार हैं जैसे कि शिक्षाशास्त्र के कई अलग.अलग दृष्टिकोण हैं।  कार्यशाला  की संयोजिका विभाग की निदेशक डॉ शैल ढाका रही।  कार्यशाला में बीएड के सभी छात्रों ने हिस्सा लिया। इस अवसर पर  उमा शर्मा,  सुनील कुमार गुप्ता एवं  राहुल तोमर उपस्थित रहे।

Popular posts from this blog

शादी में दिखावे की हदे पार, लड़की पक्ष ने विवाह स्थल पर लगवाया फ्लैस्क, लिखा :- गाडी के साढे 7 लाख नकद दिए दूल्हे को

इस्लामिया इंटर कालिज के वजूद पर खतरा मंडराया

समाज को शिक्षित व सुरक्षित रखने का संदेश दिया