शोभित विश्वविद्यालय के एमबीए के छात्रों ने बहुराष्ट्रीय कंपनी इंडो-एशियन का किया औद्योगिक भ्रमण

 




शोभित विश्वविद्यालय के  नाइस स्कूल ऑफ बिजनेस स्टडीज विभाग के एमबीए के छात्रों  ने हरिद्वार सिडकुल में स्थापित बहुराष्ट्रीय कंपनी इंडो-एशियन का किया औद्योगिक भ्रमण। इंडोएशियन, भारतीय मूल की बहुराष्ट्रीय कंपनी है जो भारतीय बाजार के अनुरूप उच्च गुणवत्ता वाले उत्पाद उपलब्ध कराने में  हमेशा अग्रणी रही है। इंडोएशियन भारत में 10kA एमसीबी आरसीसीबी, वायरिंग डिवाइसेज, सर्किट,  स्विच एवं प्लग बनाने वाली सबसे बड़ी कंपनी है कंपनी में प्रतिदिन लाखों की संख्या में इन उत्पादों का निर्माण किया जाता है।

औद्योगिक भ्रमण के दौरान छात्रों ने जाना की किस प्रकार एमसीबी,आरसीसीबी एवं अन्य उपकरणों  का निर्माण किया जाता है  तथा छात्रों ने आपूर्ति श्रृंखला की मूल बातें समझने के लिए संयंत्र के प्रत्येक ब्लॉक का दौरा किया, साथ ही पैकेजिंग के लिए कच्चे माल के अधिग्रहण और खुदरा दुकानों को वितरण की प्रक्रिया से शुरू होने वाले विभिन्न पहलुओं को जाना।  इसके अलावा मानव संसाधन, विपणन, वित्त, सुरक्षा प्रबंधन, कर्मचारियों की नियुक्ति और कई अन्य से संबंधित संयंत्र अधिकारियों द्वारा प्रदान की गई जानकारी से सभी छात्र उत्सुक और उत्साहित दिखे।  भ्रमण के दौरान इंडो-एशियन सिडकुल प्लांट के ऑपरेशन वाइस प्रेसिडेंट श्री सुरेंद्र मट्टू ने छात्रों को संबोधित करते हुए कहा कि अगर आपको कोई नया प्लांट लगाना है तो सर्वप्रथम आप को वहां की सुरक्षा एवं पर्यावरण पर खास ध्यान देना होगा। उन्होंने बताया कि किसी भी ऑर्गेनाइजेशन की सफलता में  वहां के लोग उनका प्रभाव एवं प्रक्रिया सबसे महत्वपूर्ण होते हैं।  प्लांट प्रोडक्शन हेड मिस्टर कंचन ने   बताया कि अगर आपको बेहतर प्रोडक्शन करना है तो आपको प्लानिंग से कार्य करना होगा और अपने उत्पाद में गुणवत्ता लानी होगी तभी जाकर आप एक ब्रांड बन पाएंगे।  सीनियर एचआर मैनेजर कोमल ठाकुर  ने कंपनी  के प्रत्येक कर्मचारी की सुरक्षा एवं  पर्यावरण को ध्यान में रखते हुए कार्य करने पर बल दिया  उन्होंने बताया कि  सेफ्टी एवं एनवायरमेंट पर कंपनी जीरो टोलरेंस पर कार्य करती है। प्लांट एचआर हेड श्री राकेश वर्मा जी ने  छात्रों को कंपनी के रिक्रूटमेंट प्रोसेस को समझाया और बताया कि कंपनी उन लोगों को हायर करती है जिनके अंदर कॉन्फिडेंस और आगे बढ़ने की चाह  और लीडरशिप क्वालिटी होती है।

औद्योगिक भ्रमण  के अंत में विश्व विद्यालय की ओर से प्रो डॉ अभिषेक डबास ने  कंपनी की मुख्य लीडरशिप को शाल एवं प्रतीक चिन्ह भेंट कर सभी का धन्यवाद एवं आभार व्यक्त किया। इस अवसर पर  विभाग के निदेशक डॉ अशोक गुप्ता ने बताया कि  इस तरह की एक्टिविटी के माध्यम से  छात्रों को प्रैक्टिकल एक्सपोजर मिलता है  जिससे आगे चलकर छात्रों को कंपनी के माहौल को समझने एवं उसमें कार्य करने में मदद मिलती है  शोभित विश्वविद्यालय अपने छात्रों को क्लासरूम टीचिंग के साथ-साथ आउट ऑफ क्लास रूम एक्स्पोज़र भी मुहैया कराती है. इस अवसर पर डॉ. नेहा यजुर्वेदी, आशीष  धीमन, गार्गी चौधरी एवं विभाग के छात्र मुख्य रूप से उपस्थित रहे। 



Popular posts from this blog

गोरखपुर के कलक्टर विजय किरण आनंद व SSP पर NHRC में केस दर्ज

शादी में दिखावे की हदे पार, लड़की पक्ष ने विवाह स्थल पर लगवाया फ्लैस्क, लिखा :- गाडी के साढे 7 लाख नकद दिए दूल्हे को

सिटी सेंटर में हुई लाखो की चोरी का खुलासा, महिला सहित 5 अरेस्ट, 31 मोबाइल व नकदी बरामद