दूसरे राज्यों में बढ़ रहे कोरोना के मामलों को देखते हुए बढ़ायी सतर्कता

 


मेरठ। पश्चिमी बंगाल, असम सहित दूसरे राज्यों में कोरोना मामलों की बढ़ती संख्या को देखते हुए प्रदेश में अलर्ट जारी किया गया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर सभी जिलों में रेलवे स्टेशन और बस स्टैंड पर कोरोना जांच के आदेश दिए गए हैं। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग की अतिरिक्त टीम तैनात करने की तैयारी चल रही है। उन जिलों पर खासकर फोकस किया जा रहा है, जहां पर दूसरी लहर में कोरोना के मरीजों की संख्या सर्वाधिक थी। इन जिलों में मेरठ,गाजियाबाद,नोएडा,प्रयागराज, लखनऊ,कानपुर,गोरखपुर,बनारस,सहारनपुर,मुरादाबाद,बुलंदशहर आदि शामिल हैं।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ)  डा. अखिलेश मोहन ने बताया शासन ने प्रदेश के सभी सीएमओ को कोविड और जीका वायरस को लेकर हर स्तर पर सर्तक रहने के लिए कहा है। कानपुर सहित आसपास के जिलों में निगरानी बढ़ाने के साथ मरीजों के उपचार की व्यवस्था भी किये जाने के निर्देश दिये हैं। डेंगू जैसी बीमारियों से प्रभावित जिलों में रोगियों के उपचार के लिए सभी प्रबंध किए जाने और सभी जनपदों में स्वच्छता, सेनिटाइजेशन तथा फॉगिंग का कार्य पूरी सक्रियता से संचालित किये जाने के निर्देश भी दिए गये हैं। जिले में निगरानी समितियों को सतर्क कर दिया गया है। सभी प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों को निर्देश दिये गये हैं कि घर-घर सर्वे करा कर मरीजों को उपचार के लिये चिकित्सालय में भर्ती कराया जाए।

सीएमओ ने बताया कोरोना के प्रति विभाग पूरी सजगता बरत रहा है। वायरल और डेंगू से पीड़ित मरीजों की भी कोरोना जांच की जा रही है। बस स्टैंड और रेलवे स्टेशन पर कोविड काउंटर बने हुए हैं। वहीं विभाग की टीम भी तैनात हैं जो कि कोरोना टेस्ट कर रही हैं। प्रतिदिन टेस्टिंग की सीमा को बढ़ाया जा रहा है।

Popular posts from this blog

गोरखपुर के कलक्टर विजय किरण आनंद व SSP पर NHRC में केस दर्ज

सिटी सेंटर में हुई लाखो की चोरी का खुलासा, महिला सहित 5 अरेस्ट, 31 मोबाइल व नकदी बरामद

चाऊमीन खिलाने के बहाने घर से बुलाकर ले गए युवक की दोस्तों ने ही सिर में गोली मारकर हत्या