बाहर स्टेट के आधार कार्डों पर दिया जा रहा राशन: जमालुद्दीन

 



मेरठ। श्याम नगर निवासी जमालुद्दीन ने सोमवार को पत्रकार वार्ता के दौरान बताया कि जिला आपूर्ति विभाग में भ्रष्टाचार चरम सीमा पर है। विभाग की शिकायत खाद्य एवं रसद के प्रमुख सचिव से भी की गई। डीएम को भी पूरे मामले से अवगत कराया गया, मगर कोई सुनवाई नहीं हुई। 


उन्होंने बताया कि जनपद में हनीफ़ अल्वी रसीद नगर, अखलाक अहमद शकूर नगर, नबीबन बेगम तारापुरी, शमा परवीन अबरार नगर की दुकानों पर फर्जी राशन कार्ड बने हैं, जिन राशन कार्ड पर बाहर स्टेट के आधार कार्ड लगे हैं, इसकी शिकायत की गई तो जांच के दौरान इंस्पेक्टर देवेंद्र कुमार व पशु पतिदेव ने सॉफ्टवेयर का बहाना बनाया। विभागीय जांच में दोषी पाए गए रविंद्र कुमार आज भी कार्य कर रहे हैं। दूसरी ओर विभाग का कहना है कि फर्जी राशनकार्ड पर दिए गए राशन की रिकवरी करा दी गई है, हालांकि अभी भी जांच का हवाला दिया जा रहा है।


बताया कि अगर रिकवरी करा दी है तो 2018 वाले प्रकरण में भी रिकवरी जमा कराकर दुकानें बहाल कर दी जाए। अब विभाग कुर्सी बचाने के चक्कर में उन नामों को राशन कार्डों से काट रहा है जो पात्र हैं। अधिकारी व दुकानदार मिलकर सरकार को चूना लगाने में लगे हैं। उन्होंने उच्च स्तरीय जांच की मांग की है।

Popular posts from this blog

गोरखपुर के कलक्टर विजय किरण आनंद व SSP पर NHRC में केस दर्ज

सिटी सेंटर में हुई लाखो की चोरी का खुलासा, महिला सहित 5 अरेस्ट, 31 मोबाइल व नकदी बरामद

चाऊमीन खिलाने के बहाने घर से बुलाकर ले गए युवक की दोस्तों ने ही सिर में गोली मारकर हत्या