आजादी की कहानी - बच्चों की जुबानी





'आजादी का अमृत महोत्सव' मनाते हुए 14 नवंबर, 2021 को बाल दिवस के अवसर पर सीसीआरटी, नई दिल्ली और भारतीय संस्कृति सेवार्थ न्यास हरिद्वार, युनिवर्सीटी ऑफ फीजी, हिंदी टाइम्स मीडिया कनाडा, ब्रह्माकुमारीज माउंट आबू, फेडरेशन ऑफ कम्युनिटी रेडियो, नई दिल्ली आदि के सहयोग से सीसीआरटी द्वारा "आजादी की कहानी-बच्चों की जुबानी" एक अंतरराष्ट्रीय बाल कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में विश्वभर के 12 बाल कवियों ने रुचि पूर्ण भाग लिया। इन बाल कवियों में भारत से सीसीआरटी छात्रवृत्ति धारक सुश्री वर्षा शिधोरे और मास्टर युवराज सिंह रहे; सुश्री कसनीता आदिकावु और सुश्री रितिष्मा सिंह, फीजी से; सुश्री सौम्या झा और सुश्री भव्या झा, नेपाल से; मास्टर फादिली एल सेलेमानी और सुश्री माहीन अलकरीम पीरमोहम्मद, तंजानिया से; मास्टर भव्य सेठ और मास्टर आदित्य शर्मा, न्यूजीलैंड से; मास्टर वत्सल पांडे और सुश्री श्रद्धा तिवारी, मॉरीशस से रहे। इन सभी बाल कवियों ने अपने अन्दर की काव्य चेतना को समझकर अपने मोती जैसे काव्यशब्दों से कविता रूपी माला को बनाकर इस कार्यक्रम को सफल बनाया। कार्यक्रम की शुरुआत सीसीआरटी निदेशक श्री ऋषि कुमार वशिष्ठ ने अपने स्वागत भाषण से की तथा सीसीआरटी  अध्यक्ष डॉ. हेमलता एस. मोहन जी द्वारा अध्यक्षीय सम्बोधन दिया गया। अपने सम्बोधन में उन्होंने कहा कि युवा स्कूल जाने वाले बच्चों द्वारा रचित कविताएँ वो प्रेणात्मक गाथाएँ या आख्यान है जिन से सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है तथा इन से प्रेरणा लेकर प्रत्येक देश उपनिवेशवादियों के चंगुल से आज़ादी हासिल करते हुए गौरवान्वित महसूस करता है। इन सभी  बच्चों ने कविताओं के माध्यम के द्वारा न केवल जाति, रंग और पंथ के आधार पर भेदभाव के उन्मूलन को मजबूत किया बल्कि समानता, बंधुत्व और स्वतंत्रता के मूल्यों के महत्व की भी प्रशंसा की। जो कार्यक्रम के सफल आयोजन की ओर इंगित करते हुए हमें अपनी आजादी और संस्कृति के लिए सहर्ष गर्व कराता है।

इस कार्यक्रम में बच्चों द्वारा स्वरचित कविताओं के मूलपाठ का सकारात्मक मूल्यांकन प्रख्यात कवि, डॉ. गजेंद्र सोलंकी, भारत; श्री अमित अहलावत, फीजी और श्रीमती आराधना झा श्रीवास्तव, सिंगापुर, आदि विशेषज्ञ सदस्यों की समिति द्वारा किया गया। प्रतियोगिता के विजेताओं के नामों की घोषणा मुख्य अतिथि डॉ. आर. रमेश आर्य, निदेशक, राजभाषा, संस्कृति मंत्रालय, भारत सरकार  द्वारा की गई ।

विजेताओं के नाम इस प्रकार हैं -


प्रथम स्थान रहा है - 

 1. सुश्री वर्षा शिधोरे (भारत)

 2. सुश्री भव्या झा (नेपाल)


दूसरा स्थान रहा है- 

श्री युवराज सिंह (भारत)


तीसरा स्थान रहा है -

1.सुश्री सोम्या झा(नेपाल)                           2.सुश्री श्रद्धा तिवारी(मॉरीशस)


कार्यक्रम के अन्त में डॉ. राहुल कुमार, उप. निदेशक, सीसीआरटी द्वारा धन्यवाद ज्ञापन क्रम में डॉ. सतीश कुमार शास्त्री, हरिद्वार द्वारा संयोजित इस अद्वितीय कार्यक्रम के लिए सहर्ष शुभकामनाओं सहित धन्यवाद प्रेषित किया गया।

Popular posts from this blog

गोरखपुर के कलक्टर विजय किरण आनंद व SSP पर NHRC में केस दर्ज

सिटी सेंटर में हुई लाखो की चोरी का खुलासा, महिला सहित 5 अरेस्ट, 31 मोबाइल व नकदी बरामद

चाऊमीन खिलाने के बहाने घर से बुलाकर ले गए युवक की दोस्तों ने ही सिर में गोली मारकर हत्या