सुभारती के कण कण में संस्कार व राष्ट्रवाद समाहित है: suresh rana









मेरठ। हमारे देश की बेटियां हमारा गौरव है और हर क्षेत्र में बेटियों ने अपनी प्रतिभा साबित करके देश का मान बढ़ाया है। इन विचारों को अन्तर्राष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर उन्मुक्त भारत एवं स्वामी विवेकानन्द सुभारती विश्वविद्यालय के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित संगोष्ठी में मुख्य अतिथि उत्तर प्रदेश सरकार के गन्ना मंत्री श्री सुरेश राणा ने प्रकट किया।


इस अवसर पर विशेष रूप से छत्रपति शिवाजी सुभारती अस्पताल में केन्द्रीय प्रयोगशाला का उद्घाटन एवं चर्म रोग विभाग के नवीन कक्ष का लोकार्पण मुख्य अतिथि उत्तर प्रदेश सरकार के गन्ना मंत्री, श्री सुरेश राणा एवं मेरठ लोकसभा क्षेत्र के सांसद श्री राजेन्द्र अग्रवाल जी ने किया। उन्होंने सुभारती अस्पताल द्वारा चिकित्सा के क्षेत्र में विश्वस्तरीय आधुनिक तकनीक के सहयोग से चिकित्सीय सुविधाओं को सर्वसुलभ बनाने की दिशा में किये जा रहे उत्कृष्ट कार्यो की सराहना की।


कार्यक्रम का आकर्षण उन्मुक्त भारत के गतिमान 1000 दिन के महाभोज शिविर रहा जिमसें लोगो ने सहभोज करते हुए सेवाभाव के कार्य की सराहना की।

सुभारती लॉ कॉलिज के मूट कोर्ट में ‘‘बालिका वर्ग के सर्वांगीण विकास में ही राष्ट्रहित निहित है‘‘ के विषय पर संगोष्ठी का आयोजन किया गया।


कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि उत्तर प्रदेश सरकार के गन्ना मंत्री श्री सुरेश राणा ने मेरठ लोकसभा क्षेत्र के सांसद श्री राजेन्द्र अग्रवाल, सुभारती विश्वविद्यालय के कुलपति डा. वी.पी.सिंह, सुभारती ट्रस्ट के सचिव डा. कृष्णा मूर्ति,  लोकप्रिय अस्पताल के निदेशक डा. रोहित रविन्द्र, प्रतिकुलपति डा. विजय वधावन ने मॉ सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्जवलन करते हुए किया। इस दौरान संस्कृति विभाग के सचिव श्री कुलदीप नारायण ने मंत्रोचारण करके कार्यक्रम को आस्था की पवित्रता में प्रवाहित कर दिया।


सुभारती पर्यावरण संरक्षण अधिनियम के तहत लोकप्रिय अस्पताल के निदेशक डा. रोहित रविन्द्र ने मा0 सांसद श्री राजेन्द्र अग्रवाल को पौधा देकर उनका स्वागत किया। प्रतिकुलपति डा. विजय वधावन ने मुख्य अतिथि श्री सुरेश राणा को पौधा देकर उनका स्वागत किया। सुभारती ट्रस्ट के सचिव डा. कृष्णा मूर्ति ने मेरठ लोकपाल  कुमारी अंशू त्यागी को पौधा देकर उनका स्वागत किया।


कार्यक्रम में सर्वश्रेष्ठ कार्य करने वाली छात्राओं एवं सुभारती अस्पताल के कुछ कोरोना योद्धाओं को सम्मानित किया गया। साथ ही उन्मुक्त भारत के 1000 दिवसीय महाभोज शिविर के सहयोगियों को भी मुख्य अतिथि ने अंगवस्त्र पहनाकर सम्मानित किया।


स्वागत भाषण को सम्बोधित करते हुए सुभारती विश्वविद्यालय के संस्थापक डा. अतुल कृष्ण ने मुख्य अतिथि श्री सुरेश राणा, सांसद श्री राजेन्द्र अग्रवाल, मेरठ लोकपाल कुमारी अंशु त्यागी सहित सभी अतिथियों का हृदय से अभिनंदन किया। उन्होंने उन्मुक्त भारत (एनजीओ) से सभी का विस्तृत परिचय कराया। उन्होंने कहा कि उन्मुक्त भारत देश की जनता में सामाजिक व राष्ट्र उत्थान हेतु कार्य कर रही है एवं बड़े स्तर पर विचार गोष्ठी, सम्मेलन व जागरूकता शिविर का आयोजन करके समाज के हर वर्ग को मुख्यधारा से जोड़ने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि शिव के साथ शक्ति का नही होना जैसे अपूर्ण है इसी प्रकार समाज में बालिकाओं को समाज का नेतृत्व नही मिलने से समाज अपूर्ण है। उन्होंने कहा कि यह एक विडम्बना है कि जिस देश में नारी को देवी का रूप माना गया, उस देश के माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी को ‘‘बेटी बचाव, बेटी पढ़ाओ’’ जैसे आन्दोलन को चलाना पड़ा। उन्होंने विशेष रूप से बताया कि यह सुभारती विश्वविद्यालय के लिये बड़े गर्व की बात है कि विश्वविद्यालय की कुलाधिपति श्रीमति स्तुति नारायण कक्कड, मुख्य कार्यकारी अधिकारी डा. शल्या राज महिला हैं जो अपनी कुशल प्रतिभा से विश्वविद्यालय का संचालन कर रही हैं।


सुभारती विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. वी.पी. सिंह ने अन्तर्राष्ट्रीय बालिका दिवस की सभी को शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि बालिका दिवस मनाने का उद्देश्य देश की बेटियों का उत्थान करना है। उन्होंने कहा कि सुभारती विश्वविद्यालय लैंगिक समानता पर बल देता है और छात्राओं को शोषण के विरूद्ध आवाज उठाने, गर्ल्स लेबर, भू्रण हत्या, बेटियों की शिक्षा आदि के विषय पर जागरूक करके समाज में बेटियों को हर क्षेत्र में योग्य बनाकर उनमें नेतृत्व क्षमता विकसित कर रहा है। इससे हमारे बेटियां अपनी योग्यता से देश का नाम विश्व पटल पर रोशन करेंगी।


डा. सिम्मी गुरवारा ने कहा कि सुभारती विश्वविद्यालय भी बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ एवं बेटी बढ़ाओ के नारे को आत्मसात करते हुए बालिकाओं के पल्लवित करने हेतु विभिन्न कार्यक्रम संचालित कर रहा है। सुभारती विश्वविद्यालय में छात्राओं के हित में चलाई जा रही विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं का अतिथियों से परिचय कराया। उन्होंने विशेष बताया कि सुभारती विश्वविद्यालय में 60 प्रतिशत महिला शिक्षक व 60 प्रतिशत छात्राएं अध्ययन कर रही है जो नारी शक्ति का अपने आप में विस्तृत उदाहरण है।


लोकपाल मेरठ श्री अंशू त्यागी ने कहा कि हमें अपनी बेटियों को बचपन से ही गुड टच व बेड टच के बारे में जानकारी देनी चाहिए। उन्होंने कहा कि घरों में बालक एवं बालिका के बीच में कोई भेद नहीं होना चाहिए।

 

सुभारती ट्रस्ट के सचिव डा. कृष्णा मूर्ति ने प्रेरक उद्बोधन दिया। उन्होंने कहा कि आज के समय में प्रसव के दौरान अधिकतर महिलाओं की मौत हो जाती है इसके अलावा शिशु पैदा होने के एक सप्ताह के अंदर उसकी मृत्यु हो जाती है जो बड़ी चिंता की बात है। उन्होंने कहा कि इन समस्त परिस्थितियों का संज्ञान लेकर सुभारती अस्पताल में मात्र 500 रूपये में नार्मल डिलीवरी कराई जा रही है और आपरेशन होने पर 2000 रूपये के खर्चे में डिलीवरी कराई जा रही है। उन्होंने बताया कि सुभारती अस्पताल द्वारा अपने निजी प्रयासों से संचालित स्वर्णिम कन्या योजना में पहली बेटी होने पर मॉ को एक हजार रूपये की राशि व 5 वर्ष का बेटी का बीमा करके दिया जाता है ताकि हमारी बेटियों का संरक्षण हो सके और वे भविष्य में योग्य बनकर देशहित में कार्य करें।


मुख्य अतिथि, उत्तर प्रदेश सरकार के गन्ना मंत्री श्री सुरेश राणा ने अपने उद्बोधन में कहा कि सुभारती विश्वविद्यालय में प्रवेश करते ही भारतीय संस्कृति व महापुरूषों के जीवन की गाथा देखने को मिलती है जो बड़ी प्रेरणादायी है। उन्होंने कहा कि सुभारती विश्वविद्यालय के कण कण में संस्कार व राष्ट्रवाद समाहित है जो हमारे देश की परम्परा व संस्कृति को प्रदर्शित करता है। उन्होंने संगोष्ठी के विषय पर अपने विचार प्रस्तृत करते हुए कहा कि बेटियां हमारे देश का अभिमान है और आज समाज में भी परिर्वतन आया है बेटियों हर क्षेत्र में अपनी प्रतिभा का डंका बजा रही हैं जो बड़े गर्व की बात है। उन्होंने कहा कि आदरणीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने बेटी बचाव, बेटी पढ़ाओं व बेटी बढ़ाव का नारा देश को दिया है जिसके तहत आज देश की बेटियां सहासी बनकर आगे बढ़ रही है। उन्होंने कहा कि आज समाज में छोटी छोटी बातों पर चिंतन करने की आवश्यकता है। पहले शौचालय बाद में देवाल्य के तहत महिलाआें को सशक्त होने में सहायता मिली है और मोदी जी द्वारा उज्जवला योजना से महिलाआें को घर चलाने में सुविधा के साथ ताकत मिली है। इसी क्रम में केन्द्र सरकार व उत्तर प्रदेश सरकार महिलाओं व बेटियों के उत्थान हेतु छोटे छोटे बिन्दुओं पर कार्य कर रही है। उन्होंने कार्यक्रम में उपस्थित छात्राओं व शिक्षिकाओं को कहा कि परिश्रम का कोई विकल्प नही है और जिस प्रकार सुभारती की बेटियों ने अपनी योग्यता साबित करके विभिन्न क्षेत्रों में नाम कमाया है यह पूरे देश के लिये गर्व की बात है। उन्होंने संस्थापक डा. अतुल कृष्ण को साधुवाद देते हुए सभी को बालिका दिवस की बधाई व अपनी शुभकामनाएं दी। उन्होंने प्रदेश के मुख्य मंत्री माननीय आदित्यनाथ योगी जी द्वारा उत्तर प्रदेश के विकास हेतु चलाए जा रहे विभिन्न कार्यक्रमों की भी विस्तार से चर्चा की।


कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे मेरठ लोकसभा क्षेत्र के सांसद श्री राजेन्द्र अग्रवाल ने कहा कि भारत देश परम्पराआें व संस्कारों का देश है। जिस प्रकार सुभारती विश्वविद्यालय भारत को विश्व पटल पर चमका रहा है वह सराहनीय है। उन्होंने कहा कि हमारे समाज में नारी का हर रूप पूजनीय है और आजकल नवरात्री में जिस प्रकार बेटियों को सम्मान दिया जा रहा है यही हमारे देश के संस्कार व आदर्श है। उन्होंने कहा कि देश को स्वभाव के अनुसार खड़ा होना होगा व परम्पराओं को प्रोत्साहन देना होगा और सुभारती विश्वविद्यालय ने इसकी पहल करते हुए देश में ये अलख जलाई है कि देश की बेटियां शिक्षा प्राप्त करके हर मैदान में अपनी प्रतिभा मनवाएं।

लोकप्रिय अस्पताल के निदेशक डा. रोहित रविन्द्र ने मुख्य अतिथि श्री सुरेश राणा जी को स्मृति चिहृ देकर सम्मानित किया। डा.कृष्णा मूर्ति ने सांसद श्री राजेन्द्र अग्रवाल को स्मृति चिहृ देकर सम्मानित किया। लॉ कॉलिज के आचार्य डा. मनोज कुमार त्रिपाठी ने सभी अतिथियों को धन्यवाद ज्ञापित किया। मंच का संचालन सहायक कुलसचिव डा. विवेक कुमार ने किया।


यह हुए सम्मानित-

नर्सिंग अधीक्षक संजू सोलंकी, हाउस कीपिंग हैड नासिर, असिस्टेंट मैनेजर मार्किटिंग मोहसीन त्यागी, असिस्टेंट मैनेजर मार्किटिंग आलोक, ऑफिस सुपरवाईजर जयकिशन, मिस बुशरा पीए डीएमएस, आईटी सुपरवाईजर अरूण को कोरोना योद्धा का सम्मान मिला।


विश्वविद्यालय की सर्वश्रेष्ठ छात्राओं का सम्मानः मिस काजल पत्रकारिता संकाय, मिस भारती नर्सिंग कॉलिज, मानवी अग्रवाल डेन्टल कॉलिज, तनिषा जोशी होटल मैनेजमेंट, नवज्योति पॉलिटेक्निक कॉलिज, काजल देवी कोतवाल लाइब्रेरी साइंस,  प्रतिशा मैनेजमेंट कॉलिज, दीप्ति योगा कॉलिज, एकता फिजियोथैरेपी कॉलिज, सिद्धी त्रिपाठी पैरामेडिकल साइंस, अंजलि कृष्णामूर्ति इंजीनियरिंग कॉलिज, आरूही तिवारी फाइन आर्ट, रिद्धीमा अग्रवाल फार्मेसी कॉलिज, आकांशा राय लॉ कॉलिज, मनी गुप्ता मेडिकल कॉलिज को सम्मानित किया गया।


इसके साथ ही उन्मुक्त भारत के 1000 दिन के महाभोज शिविर में उत्कृष्ट कार्य करते पर कुलदीप नारायण, सतेन्द्र कुमार, अवनीश चपराना, नवीन चपराना, गौरव कुमार, कुलदीप सांगवान आदि को सम्मानित किया गया।


इस अवसर पर अध्यक्ष, जिला सहकारी बैंक श्री मनिंदर पाल सिंह, विश्व हिन्दू परिषद गौरक्षा के विभाग अध्यक्ष श्री तरूण गुप्ता, विश्व हिन्दू परिषद गौरक्षा महानगर अध्यक्ष आकाश अग्रवाल, विभाग उपाध्यक्ष विश्व हिन्दू परिषद गौरक्षा कुलदीप गुप्ता, मनोज अग्रवाल, डा. वैभव गोयल भारतीय, डा. आरपी सिंह, अतिरिक्त कुलसचिव सैयद जफर हुसैन, डा.ए.के. श्रीवास्वत, डा. जे.पी. सिंह, डा. सत्यम खरे, डा.रवि, ऋषभ अग्रवाल, डा. सरताज अहमद आदि सहित सभी संकायों एवं विभागों व अस्पताल के स्टाफ सदस्य सहित विश्वविद्यालय की छात्राएं उपस्थित रही।

Popular posts from this blog

गोरखपुर के कलक्टर विजय किरण आनंद व SSP पर NHRC में केस दर्ज

सिटी सेंटर में हुई लाखो की चोरी का खुलासा, महिला सहित 5 अरेस्ट, 31 मोबाइल व नकदी बरामद

चाऊमीन खिलाने के बहाने घर से बुलाकर ले गए युवक की दोस्तों ने ही सिर में गोली मारकर हत्या