कांग्रेसियों ने इंद्रा गांधी व सरदार पटेल को दी श्रद्धांजलि

 


-ज़िला व महानगर कमेटी ने बुढाना गेट कांग्रेस कार्यालय पर किया कार्यक्रम

मेरठ। ज़िला व महानगर कांग्रेस कमेटी ने रविवार को बुढाना गेट कांग्रेस कार्यालय पर भारत रत्न आयरन लेडी पूर्व प्रधानमंत्री स्व. इंदिरा गांधी का बलिदान दिवस पर विचार गोष्ठी व उनको माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि दी। कार्यक्रम का संचालन महानगर प्रवक्ता अखिल कौशिक ने किया। अध्यक्षता सयुंक्त रूप से जिला व महानगर कांग्रेस अध्यक्ष ने किया। भारत रत्न लौह पुरुष सरदार पटेल की जयंती पर उनको भावपूर्ण स्मरण किया।


प्रवक्ता अखिल कौशिक ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा ने आज के ही दिन 1984 में देश की एकता व अखंडता व सामाजिक सदभाव के लिए अपने प्राण का बलिदान दिया। वह सच्ची राष्ट्र भक्त थी। बाल्य काल से ही उन्होंने देश की आज़ादी की लड़ाई में भाग लिया। उन्होंने वानर सेना का गठन किया। 19 जुलाई में बैंकों का राष्ट्रीयकरण, 1971 को पाकिस्तान के दो टुकड़े, 1984 में ऑपरेशन मेघदूत कर सियाचीन पर भारत का कब्ज़ा, 18 मई 1974 को परमाणु परीक्षण कर दुनिया को चौकाया। 1971 में राजाओं का प्रिवी पर्स राज भत्ता समाप्त किया, 1975 में सिक्किम का भारत में विलय करने जैसे साहसिक कार्य किए।

लौह पुरुष पटेल के बारे में बताया

कांग्रेसियों ने भारत रत्न लौह पुरुष सरदार पटेल की 146वीं जयंती पर उनको भावपूर्ण स्मरण किया गया। अखिल कौशिक ने बताया कि सरदार पटेल महान स्वतंत्रता सेनानी थे। उनका जन्म नाड़ियाद गुजरात में हुआ था। उनका पूरा नाम वल्लभभाई झावेरभाई पटेल है। महात्मा गांधी ने इनको लौह पुरुष की उपाधि दी। लंदन से इन्होंने बैरिस्टर की पढ़ाई की। अहमदाबाद में वकालत की। महात्मा गांधी की प्रेरणा से आज़ादी की लड़ाई में भाग लिया। 1918 में खेड़ा संघर्ष में पहला योगदान किया। 1928 में बारडोली सत्याग्रह के किसान आंदोलन में भाग लिया। देश की 562 छोटी छोटी रियासतों का सफलतापूर्वक भारत मे एकीकरण किया। 

दामोदार शर्मा को भी किया याद

भारत की एकता, अखंडता, विकास, लोकतंत्र के लिए आज़ादी के इन दोनों महानायकों ने जीवन पर्यन्त कार्य किया। इसके बाद पूर्व विधायक दामोदर शर्मा के लिए दो मिनट का मौन किया गया। उसके बाद हापुड़ रोड पर इंदिरा की मूर्ति पर माल्यार्पण किया गया।

ये कांग्रेसी रहे मौजूद

इस अवसर पर जिला कांग्रेस अध्यक्ष अवनीश काजला, महानगर कांग्रेस अध्यक्ष ज़ाहिद अंसारी, जिला प्रवक्ता हरीकिशन अम्बेडकर, महानगर उपाध्यक्ष अनिल शर्मा, पूर्व महानगर अध्यक्ष कृष्ण कुमार शर्मा किशनी, पूर्व जिलाध्यक्ष विनोद मोघा, मोनिंदर सूद वाल्मीकि, रिहान, उषा चिनहट, सुशीला कोली, आदित्य शर्मा, धूम सिंह गुर्जर, राकेश मिश्रा, देशपाल गुर्जर, अरुण कुमार एडवोकेट, कमल जाटव, हरीश त्यागी, संजय कटारिया, रोबिन नाथ गोलु, दिनेश मोहन शर्मा, डॉक्टर संजीव, शोएब साबरी, नफीस सैफ़ी, हरीश त्यागी, सुरेंद्र यादव, प्रवीण कुमार, मुकुल मित्तल, नसीम सैफ़ी, आशीष जाटव, नईम राणा आदि रहे।

Popular posts from this blog

गोरखपुर के कलक्टर विजय किरण आनंद व SSP पर NHRC में केस दर्ज

सिटी सेंटर में हुई लाखो की चोरी का खुलासा, महिला सहित 5 अरेस्ट, 31 मोबाइल व नकदी बरामद

चाऊमीन खिलाने के बहाने घर से बुलाकर ले गए युवक की दोस्तों ने ही सिर में गोली मारकर हत्या