दलितों के बाद सबसे ज्यादा नाइंसाफी मुस्लिमों के साथ हुई: ओवैसी

 


-लालू और कांग्रेस ने मिलकर बिहार में बीजेपी की जीत का रास्ता साफ किया

-किठौर में आयोजित हुई एआईएमआईएम की जनसभा 

मेरठ। किठौर में आयोजित एआईएमआईएम की जनसभा में मजलिस प्रमुख असदुददिन ओवैसी ने कहा कि लोकतंत्र में सबसे बड़ा हथियार राजनीति है। यही विकास के सारे मार्ग प्रशस्त करती है। उन्होंने कहा कि मजलिस को बीजेपी की बी टीम कहने वाले लोग ये भूल गए है कि केंद्र व प्रदेश में बीजेपी को कामयाबी सपा, बसपा और कांग्रेस की गलत नीतियों से मिली है। 

उन्होंने कहा कि बिहार में बीजेपी की जीत का उल्हाना मजलिस को दिया जा रहा है, सच में लालू और कांग्रेस ने मिलकर वहां बीजेपी की जीत का रास्ता साफ कर दिया। कहा कि अपना एक लीडर चुनो, एक डंडे, एक झंडे के नीचे रहो। यादव और दलित से सबक हासिल करो। एक डंडे और एक झंडे के नीचे रहकर वह हर विभाग और दफ्तर में नौकरी पाए हुए है और मुस्लिमों के हिस्से में दंगे, फसाद, जेल, बबार्दी और तबाही है। संभलो, खुद को बदलो। आंकड़े कह रहे है कि उत्तर प्रदेश में दलितों के बाद सबसे ज्यादा नाइंसाफी मुस्लिमों के साथ हुई है। जागरूक रहना है विभिन पार्टियों के नेता आएंगे और आपसे पहले की तरह वोट मांगेंगे, आपके हमदर्द बनेंगे। मगर याद रखना जब-जब मुस्लिमों पर आफतें आई है उनकी आवाज को मजलिस व असदुददिन ओवेसी ने संसद में उठाया है। दूसरी पार्टी के मुस्लिम दुलछल्लों ने नहीं। एक घंटे के संबोधन में ओवैसी ने योगी पर तंज कसते हुए कहा कि यहां दंगे नहीं हुए है जबकि, गृह मंत्रालय की रिपोर्ट सीएए और एनआरसी के दंगों में 5 हजार लोगों के मारे जाने की तस्दीक कर रही है। कितना झुठ बोलोगे बाबा। मोदी जी कहते है कि 100 करोड़ लोगों को टिका लग गया जबकि, वास्तव में 31% जनता को भारत मे टिके लगे है।

15 वर्ष से किठौर तहसील के लिए तरस रहा

उन्होंने कहा कि किठौर में 15 बरस तक सपा से शाहिद मंजूर विधायक और मंत्री रहे लेकिन, किठौर का कोई उच्च स्तरीय विकास नही हो सका। यहां तहसील अभी तक मांग तक सीमित है। यही हाल बसपा में मुनकाद अली का रहा। कहा कि किठौर में मजलिस का विधायक बनने पर तहसील के साथ-साथ, काली नदी की सफाई, डिश फिल्टरिंग, मेरठ गढ़ रोड का पुनर्निर्माण, बने हुए इंटर कालिज के लिए स्टाफ, हाई लेवल का स्टाफ उपलब्ध कराया जाएगा। 

कराई जाएगी गन्ना भुगतान की व्यवस्था

मवाना व मोहिद्दीनपुर मिल में किसान के गन्ने भुगतान की जल्द व्यवस्ता कराई जाएगी। उन्होंने शाहजहांपुर मंडी के आम पर कहा कि जिस जगह का आम देशों में मशहूर है वहा मंडी की व्यवस्था कराई जाएगी। टिकट मांगने वाले नही बांटने वाले बनो

शाहिद मंजूर को दिया पार्टी में आने का न्यौता

उधर, प्रदेश अध्यक्ष शौकत अली ने शाहिद मंजूर को एआईएमआईएम में आने का न्योता देते हुए कहा कि आप टिकट पाने वाले नहीं टिकट देने वाले बनो। 

पार्षद जुबेर के घर पहुंचे ओवैसी, व्यक्त किया दुख

-बोले परिजन: पुलिस की लापरवाही से हुई हत्या, हत्यारोपी गिरफ्त से बाहर

मेरठ। एआईएमआईएम के चीफ असदुद्दीन ओवैसी शनिवार को मेरठ पहुंचे। मेरठ पहुंचने के बाद सबसे पहले उन्होंने पार्षद जुबेर के घर का रूख किया। वहां पहुंचकर शोकाकुल परिवार को सांत्वना दी। उन्होंने पार्षद जुबेर की हत्या पर गहरा दुख व्यक्त किया। 

इस दौरान जुबेर के परिजनों ने मेरठ प्रशासन और पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए। जुबेर के परिजनों का कहना था कि पुलिस की लापरवाही से हत्या के असली सूत्रधार बाहर घूम रहे हैं। जिससे परिजनों के अन्य लोगों को जान का खतरा बना हुआ है। बता दे कि पार्षद जुबेर ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम के भी सक्रिय सदस्य थे और पदाधिकारी भी थे। ओवैसी ने पार्षद के परिजनों की बात सुनी और उन्होंने इंसाफ दिलाने का भरोसा दिलाया। असदुद्दीन ओवैसी दिल्ली से सीधे मेरठ में ढबाई नगर स्थित पार्षद जुबेर के आवास पर पहुंचे और उन्होंने पार्षद की हत्या पर दुख जताया। साथ ही शोकाकुल परिवार को सांत्वना दी। इस दौरान पार्टी के महानगर अध्यक्ष हाजी नौशाद समेत अन्य पदाधिकारी उनके साथ रहे। मेरठ से वह सीधे किठौर के लिए निकल गए। उनके यहां पहुंचने पर काफी संख्या में पार्टी पदाधिकारी और कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

Popular posts from this blog

गोरखपुर के कलक्टर विजय किरण आनंद व SSP पर NHRC में केस दर्ज

सिटी सेंटर में हुई लाखो की चोरी का खुलासा, महिला सहित 5 अरेस्ट, 31 मोबाइल व नकदी बरामद

चाऊमीन खिलाने के बहाने घर से बुलाकर ले गए युवक की दोस्तों ने ही सिर में गोली मारकर हत्या