मेरठ और आसपास के जिलों में दिखा बंद का मिलाजुला असर

 





-सयुंक्त किसान मोर्चे के आह्वान पर किया गया भारत बंद, लोगों को करना पड़ा परेशानी का सामना

मेरठ। सयुंक्त किसान मोर्चे के आह्वान पर सोमवार को किए गए भारत बंद का मेरठ और आसपास के जिलों में मिलाजुला असर दिखाई दिया। मेरठ, मुजफ्फरनगर, बिजनौर, शामली, सहारनपुर, बागपत, बुलंदशहर आदि जिलों में भाकियू कार्यकर्ताओं ने हाईवे पर निकलकर धरना प्रदर्शन किया। 

मेरठ और मुजफ्फरनगर में टोल प्लाजा पर धरना दिया गया। इसके अलावा बाजारों में बंद का मिला जुला असर दिखा। रूट डायवर्जन के चलते लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ा। दबथुवा व सरधना में बाजार बंद का मिला जुला असर दिखाई दिया। दबथुवा में समय के साथ कुछ व्यापारियों ने दुकानें खोली। वहीं, कुछ ने बंद रखी। इस दौरान लोगों की आवाजाही भी दिखाई दी। उधर, सरधना में भी अशोक की लाट व गंज बाजार में कुछ व्यापारियों ने दुकानें खोली। सरधना व्यापार मंडल के अध्यक्ष पंकज जैन ने बताया कि व्यापारी कोरोनाकाल में हुए नुकसान की भरपाई अभी तक नहीं कर पाया है। इसलिए कुछ व्यापारियों ने दुकान खोली है। हालांकि, बाजार में लोगों की आवाजाही कम दिखाई दी।

ऑल इंडिया लायर्स यूनियन ने किया समर्थन

किसानों के भारत बंद में ऑल इंडिया लायर्स यूनियन ने भी सर्मथन किया है। तीनों कृषि कानून बिल की वापसी मांग और महंगाई पर रोक लगाने को लेकर ऑल इंडिया लायर्स यूनियन के अध्य्क्ष ने जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपा। इस दौरान अध्यक्ष अब्दुल जब्बार ने बताया कि हम संयुक्त किसान मोर्चा द्वारा भारत बंद के आवाहन को पूर्ण समर्थन करते हैं। मांग करते हैं कि भारत सरकार द्वारा पारित तीनों कृषि कानून में जो किसान विरोधी कानून है, उनको अब विलंब वापस लिया जाए। सरकार अपना आइडियल रवैया छोड़कर किसानों से वार्तालाप करें। भारतवर्ष के किसान दिल्ली के बॉर्डर पर पिछले 10 माह से शांतिपूर्ण ढंग से सड़कों पर बैठे हैं। इसी क्रम में हम मांग करते हैं कि भारत सरकार निजीकरण की नीतियों को वापस ले और बेतहाशा बढ़ती हुई महंगाई पर भी रोक लगाए।

रालोद ने किया भारत बंद का स्वागत

राष्ट्रीय लोकदल कैम्प कार्यालय बाउंड्री रोड लालकुर्ती पर सैफ़ी समाज व  अंसारी समाज के लोगों ने पूर्व मंत्री डॉ. मेराजुद्दीन अहमद के नेतृत्व में राष्ट्रीय लोकदल की सदस्यता ली, जिसमें मोहम्मद सहजाद सैफ़ी, मोहम्मद शाहीद सैफ़ी, जमशेद सैफ़ी, महमूद सैफ़ी, अनीश कस्सार ने सदस्यता ली। साथ ही साथ भारतीय किसान यूनियन द्वारा समर्थित भारत बंद का भी स्वागत किया और बन्द का पूर्ण समर्थन किया। इस अवसर पर पूर्व जिलाध्यक्ष राहुल प्रमुख, पूर्व विधायक राजेन्द्र शर्मा, प्रदेश अध्यक्ष सैनिक प्रकोष्ट कर्नल ब्रह्मपाल तोमर, महासचिव कमलजीत सिंह गुर्जर, क्षेत्रीय महासचिव जीसान सिद्दीकी इत्यादि मौजूद रहें।

किसानों के बीच पहुंचे सपा नेता पवन गुर्जर

सपा नेता पवन गुर्जर ने भारतीय किसान संयुक्त मोर्चा के भारत बन्द में अपने साथियों के साथ परतापुर पुल के नीचे पहुँचकर पूर्ण समर्थन किया। काले कृषि क़ानूनों को वापस करने व न्यूनतम समर्थन मूल्य की सरकारी गारण्टी बनाने तक आन्दोलन जारी रहेगा। समाजवादी पार्टी का पूर्ण समर्थन किसानों के साथ था है और हमेशा रहेगा। किसान आने वाले चुनाव के समय में इसका जवाब देंगे। इस आन्दोलन की धार को औरर तेज करेंगे।

आसिफाबाद मार्ग पर किसानों ने किया प्रदर्शन

भारतीय किसान यूनियन के मवाना तहसील अध्यक्ष अमनदीप गेसूपुर के नेतृत्व में आसिफाबाद मार्ग पर किसानों ने चक्का जाम कर धरना प्रदर्शन किया। केंद्र सरकार व उत्तर प्रदेश सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए बिल वापस लेने की मांग की। इस मौके पर इंद्रजीत ब्लॉक अध्यक्ष, अभिजीत गेसूपुर, गब्बर सिंह बड़ला, चौधरी रिशू, रितेश खटकी, आशिफ बढला, सुरेंद्र सिंह, अर्जुन बड़ागांव, कृष्णवीर सिंह आदि मौजूद रहें।

मेरठ व्यापार मंडल ने बंद कराई दुकानें

मेरठ व्यापार मंडल ने किसानों द्वारा किए गए भारत बंद के दौरान खुली हुई दुकानों व शोरूम को व्यापारियों से हाथ जोड़कर बंद कराया। जिलाध्यक्ष जीतू नागपाल, जिला प्रमुख शैंकी वर्मा, शाहबाज, दीपक सिरोही, विपिन चौधरी, जसवीर सिलोरा, अभिषेक, शोएब आदि इस दौरान रहें। व्यापारियों ने किसानों के समर्थन में प्रधानमंत्री के नाम एसडीएम सरधना को ज्ञापन सौंपा। साथ ही उस ज्ञापन में चेतावनी दी कि यदि सरकार इन काले कानूनों को जल्द से जल्द वापस नहीं देती तो व्यापारियों को भी किसानों के साथ धरना देना पड़ेगा।

Popular posts from this blog

गोरखपुर के कलक्टर विजय किरण आनंद व SSP पर NHRC में केस दर्ज

सिटी सेंटर में हुई लाखो की चोरी का खुलासा, महिला सहित 5 अरेस्ट, 31 मोबाइल व नकदी बरामद

चाऊमीन खिलाने के बहाने घर से बुलाकर ले गए युवक की दोस्तों ने ही सिर में गोली मारकर हत्या