मानसिक रोग की समय रहते पहचान जरूरी: डा. नीतिश

 




-बालाजी कन्श्स महाविद्यालय में हुई मानसिक स्वास्थ्य जागरूकता कार्यशाला


मेरठ। शासन द्वारा निर्देशित मानसिक स्वास्थ्य जागरूकता माह 10 सितंबर से 10 अक्टूबर तक चलने वाले कार्यक्रमों की श्रखला में मंगलवार को तिरुपति बालाजी कन्या महाविद्यालय खजूरी में मानसिक स्वास्थ्य जागरूकता कार्यशाला का आयोजन किया गया।


सुभारती मेडिकल कॉलेज से आए मानसिक रोग विशेषज्ञ डॉ. नितीश कुमार, डॉ. राहुल बंसल, डॉ. फरहत खान का स्वागत करते हुए कार्यक्रम की संचालिका और मुस्कुराएगा इंडिया की मानसिक स्वास्थ्य सलाहकार डॉ. भावना शर्मा ने कहा कि ज़ब हम तनाव में होते हैं तो छोटी से छोटी समस्या भी बडा रूप ले लेती हैं। अगर हम थोड़ी सी समझ बुझ और धैर्य से काम लें तो तनाव को काफ़ी हद तक कम किया सकता है। डॉ. नितीश कुमार ने अपने व्याख्यान मे कहाँ कि अगर समय रहते हम जागरूक होकर मानसिक बीमारी के लक्षणों को समय से पहचान लेंगे तो हम उसे थोड़ी सी सावधानी और समझ बुझ से सही कर सकते  हैं। ज़ब भी आपको परिवार में आसपास कोई भी ऐसी एक्टिविटी करता नजर आए जो वो कभी पहले नहीं करता था, गुमसुम रहना, बात बात पर गुस्सा करना, नींद ना आना, चिड़चिड़ा होना, काम सही से ना कर पाना, किसी काम में मन ना लगना, आत्महत्या का विचार आना ये सब मानसिक रोग के लक्षण  है। डॉ. राहुल बंसल ने मानसिक रोगी की भोजन पर प्रकाश डाला। स्वयं सेविकाओं ने संकल्प लिया कि अपने आसपास के पांच घर, अगले पांच घर, बगल अर्थात 10 घरों को जागरूक करने का। डॉ. फरहत ने देशी खान पान और खेलकूद पर जोर दिया। प्राचार्य डॉ. ओमकार सिंह त्यागी ने अतिथियों का आभार व्यक्त किया। यहां शबीला, इकरा, पूजा, तनु, सोनिया, इंदु त्यागी, अमित कुमार, कृष्णा देवी का सहयोग रहा

Popular posts from this blog

गोरखपुर के कलक्टर विजय किरण आनंद व SSP पर NHRC में केस दर्ज

सिटी सेंटर में हुई लाखो की चोरी का खुलासा, महिला सहित 5 अरेस्ट, 31 मोबाइल व नकदी बरामद

सिटी सेंटर में 5 दुकानों के शटर फाड़कर लाखो की चोरी, CC कैमरे में कैद हुए बदमाश