सरधना व  सरूरपुर, करनावल मैं भारतीय किसान यूनियन के संस्थापक अध्यक्ष स्वर्गीय चौधरी महेंद्र सिंह टिकैत की पुण्यतिथि मनाई


(अहमद हुसैन)


 गांव जैनपुर में उनके चित्र पर पुष्पार्पित कर जीवन पर प्रकाश डाला। कार्यकर्ताओं से पद चिह्नों पर चलने का आह्वान किया। वक्ताओं ने कहा कि उन्होंने किसानों को बोलने और हक मांगने की ताकत दी।
गांव जैनपुर में शुक्रवार को भाकियू ब्लॉक अध्यक्ष अशफाक प्रधान के आवास पर यूनियन के कार्यकर्ता इकट्ठा हुए। यहां सोशल डिशटेन्स का ध्यान रखते हुए भारतीय किसान यूनियन के संस्थापक एवं किसान मसीहा स्वर्गीय बाबा महेंद्र सिंह टिकैत की नोवीं पुण्यतिथि मनाई गई। अशफाक प्रधान ने कहा कि बाबा टिकैत ने हमेशा किसानों के हकों की लड़ाई लड़ी है। जीवनभर किसानों की सेवा करते रहे। किसानों को उनकी अधिकारों को दिलाया। उनके बताए मार्गों पर आज भी कार्यकर्ता चल रहे हैं। उनकी आत्मा हर कार्यकर्ताओं के मन मंदिर में बसी हुई है। छात्र सभा के प्रदेशाध्यक्ष राजकुमार करनावल ने कहा कि आज बाबा टिकैत के न रहने से किसान दिशाहीन हो रहा है। राजनीति का शिकार होकर अपने मुद्दों से भटक गया है। चुनाव में किसान जाति धर्म में बंटकर चुनावी सभा में भीड़ का हिस्स बन गया है। उन्होंने कार्यकर्ताओं से बाबा महेंद्र सिंह टिकैत के दिखाए रास्ते पर चलने का आह्वान किया। इस दौरान सीएचसी प्रभारी डॉ ओपी जायसवाल और मीडिया कर्मियों को कोरोना योद्धाओं के रूप में सम्मानित किया गया। कार्यकर्ताओं ने कहा कि बाबा महेंद्र सिंह टिकैत के नाम से कृषि विश्वविद्यालय बनाया जाए। इस दौरान मनोज त्यागी, गुलजार आदि मौजूद रहे।