क़्वारेंटाइन पर तैनात कर्मियों की होगी रैंडम सैंपलिंग : डीएम

 


बुलन्दशहर (शब्बीर अहमद सैफी): जिलाधिकारी रविन्द्र कुमार ने कहा है कि जनपद में अन्य राज्यों से आ रहे कामगार मजदूरों को क़्वारेंटाइन सेंटर में रखकर ही उनका स्वास्थ्य परीक्षण कर लिया जाए।  आपातकालीन चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराए जाने हेतु निजी अस्पतालों में कार्यरत स्टाफ को प्रशिक्षण देकर तय कर लिया जाए कि प्रत्येक कर्मी सुरक्षा किट पहनकर ही मरीजों का उपचार करे।
     जिलाधिकारी रविन्द्र कुमार ने कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम व इलाज के लिए जिला पंचायत सभागार में अधिकारियों एवं मेडिकल स्टाफ बैठक की। बैठक की अध्यक्षता करते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि जनपद में अन्य राज्यो से आ रहे कामगार मजदूरों को क़्वारेंटाइन सेंटर में रखकर ही स्वास्थ्य परीक्षण/थर्मल स्क्रीनिंग एवं सिमटोमेटिक का सैंपल लिया जाये। डीएम ने कहा कि नेगेटिव रिपोर्ट आने पर 14 दिन से अधिक क़्वारेंटाइन सेंटर में न रखा जाए।  उन्होंने कहा कि जो व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति के सीधे संपर्क में है उनकी तत्काल सैंपलिंग की जाए। मंडी में रैंडम सैंपलिंग कोविड ड्यूटी में तैनात कर्मियों, क़्वारेंटाइन सेंटर पर तैनात कर्मियों तथा खाना उपलब्ध कराने वाले लोगों की भी रैंडम सैंपलिंग की जाये। उन्होंने कहा कि आपातकालीन चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराए जाने हेतु निजी अस्पतालों में कार्यरत स्टाफ को प्रशिक्षण देकर यह सुनिश्चित कराया जाए कि प्रत्येक कर्मी सुरक्षा किट पहनकर ही मरीजों को उपचार उप्लब्ध कराये।
     जिलाधिकारी ने जनपद में बिना पंजीकरण के क्लीनिक चला रहे झोलाछाप डॉक्टरों के खिलाफ कार्यवाही करने के निर्देश दिए है। बैठक में एसएसपी संतोष कुमार सिंह, सीडीओ अभिषेक पांडे, एडीएम प्रशासन रविन्द्र कुमार, एसपी सिटी अतुल कुमार श्रीवास्तव, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ० के० एन० तिवारी सहित समस्त एसडीएम, प्रभारी समस्त चिकित्साधिकारी उपस्थित रहे।


Popular posts from this blog

गोरखपुर के कलक्टर विजय किरण आनंद व SSP पर NHRC में केस दर्ज

सिटी सेंटर में हुई लाखो की चोरी का खुलासा, महिला सहित 5 अरेस्ट, 31 मोबाइल व नकदी बरामद

शादी में दिखावे की हदे पार, लड़की पक्ष ने विवाह स्थल पर लगवाया फ्लैस्क, लिखा :- गाडी के साढे 7 लाख नकद दिए दूल्हे को