प्रयाराज प्रशासन ने जानबूझ कर मुस्लिम इलाक़ों में क्वारंटाइन सेंटर बनाया है: शाहनवाज़

लखनऊ। कांग्रेस अल्पसंख्यक विभाग ने प्रयागराज में कोरोना संक्रमित लोगों को सघन मुस्लिम बस्ती में क्वारंटाइन करके मुसलमानों में दहशत फैलाने का आरोप लगाया है कांग्रेस ने तत्काल इससे बाज आने और मरीज़ों को शहर से बाहर किसी स्थान पर रखने की मांग की है।


कांग्रेस अल्पसंख्यक विभाग के प्रदेश चेयरमैन शाहनवाज़ आलम ने जारी बयान में आरोप लगाया है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के इशारे पर प्रयागराज प्रशासन कोरोना संक्रमित मरीज़ों को क्वारंटाइन करने के लिए करेली जैसे सघन मुस्लिम आबादी के बीचोबीच उन्हें रखकर मुसलमानों में इस बीमारी को फैलाने की योजना पर काम कर रहा है। जिसके तहत फाफामऊ, मेजा, करछना और कौशाम्बी जैसे काफ़ी दूर के इलाक़ों से मरीज़ों को लाकर करेली के दुल्हन पैलेस, शहनाई पैलेस, एच एस गार्डन, अम्बर पैलेस, शालीमार पैलेस समेत एक दर्जन गेस्ट हाउसों में क्वारंटाइन के नाम पर रखा गया है। उन्होंने कहा कि अगर ये मरीज़ इसी इलाके के होते तो वहां क्वारंटाइन करने पर आपत्ति नहीं होती। उन्होंने आरोप लगाया कि स्थानीय मुसलमानों द्वारा इसका विरोध करने पर पुलिस मुक़दमा लिखने की धमकी भी दे रही है। जो साबित करता है कि योगी सरकार पुलिस की गुंडई के बल पर इस महामारी को मुसलमानों में फैलाने पर तुली है। 


शाहनवाज़ आलम ने कहा कि ऐसी ख़बरें भी आ रही हैं कि पूरे सूबे में मुख्यमंत्री के निर्देश पर जांच केंद्रों पर दबाव डाल कर वास्तविक मरीज़ों की संख्या दबाई जा रही है। कई वरिष्ठ पत्रकार तक ट्वीट कर रहे हैं कि लखनऊ तक में कोरोना से मरने वाले सैकड़ों मरीज़ों को पुलिस चोरी छुपे जलवा रही है। 


शाहनवाज़ आलम ने कहा कि कोरोना संकट ने जाहिर कर दिया है कि मुख्यमंत्री  में किसी भी गंभीर चुनौती का मुकाबला करने की समझ नहीं है। जिसका खामियाजा पूरा प्रदेश भुगतने जा रहा है।