पैदल चलने के कारण हुई प्रवासी मजदूर की मौत

 


बुलन्दशहर (शब्बीर अहमद सैफी/एड्वोकेट इमरान खान): वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के चलते लॉक डाउन में प्रवासी मजदूरो का पैदल व् साईकिल से लौटना जारी है। प्रशासन की प्रवासियों के लौटने की व्यवस्था कराने की सभी कोशिशों के बाद भी प्रवासी लोग पैदल या साईकिल से अपने घरों को लौट रहे हैं। जिसके कारण सड़क हादसे, भूख से मौत आदि की दुखःद खबरें आ रही हैं। 
       ऐसा ही एक मामला जनपद में भी देखने को मिला। हरदोई के गांव निवासी एक युवक हरियाणा के मानेसर से पैदल ही अपने घर को लौट रहा था। बुलन्दशहर के निकट गांव दरियापुर के पास थककर आराम करने बैठ गया जहाँ उसकी तबियत बिगड़ गयी। सूचना पर पुलिस ने युवक को अस्पताल में भर्ती कराया। जहाँ उपचार के दौरान उसकी मौत हो गयी। हरदोई के गांव सवायजपुर निवासी यूनुस पुत्र अशरफ हरियाणा के गुरुग्राम स्थित मानेसर में मजदूरी करता था। लॉकडाउन में काम न होने के कारण वह पैदल ही अपने गांव सवायजपुर को लौटने लगा। थकान की वजह से वह दरियापुर में पास सड़क पर ही बैठ गया। हालत बिगड़ने पर पुलिस ने उसे अस्पताल में भर्ती कराया। जहाँ उपचार में दौरान उसकी मृत्यु हो गयी। परिजनों को उसकी मौत की सूचना दी गयी। परिजन बुलन्दशहर पहुंचे लेकिन कोरोना के डर से शव को ले जाने से इंकार कर दिया। 
      सपा जिलाध्यक्ष अमजद अली गुड्डू के प्रयासों से उसे सुपुर्दे किया गया। युवक का सैंपल ले लिया गया है जिसे कोरोना जाँच के लिए भेजा गया है। रिपोर्ट आने पर पता चलेगा कि मृतक यूनुस कोरोना संक्रमित था या नहीं।