जटपुरा गांव में सरकारी बोरों से बदला जा रहा था चावल

 


अहमद हुसैन


एक तरफ जहां प्रदेश सरकार गरीबों की मदद के लिए उनको फ्री चावल एवं राशन वितरित करने की बात कह रही है वही अधिकारियों से मिलीभगत कर राशन डीलर गरीबों के निवाले को छीन कर उसे ब्लैक कर रहा है एक ऐसा ही ताजा मामला आज सरधना के गांव जटपुरा मैं देखने को मिला जहां तस्करी के लिये लाया गया 50 कुंतल राशन का चावल दूसरे बोरो में बदलते हुये पकडा गया। पुलिस ने ग्रामीणों की सुचना पर माल को कब्जे में ले लिया है। पूरे मामले की छानबीन करने के बाद पुलिस कार्यवाही करने की बात कह रही है।
बता दे कि बुधवार को जटपुरा गाव में एक जुगाड में भरकर चावल लाया गया ओर उसे सुभाष पुत्र आशाराम के मकान में उतार कर जुगाड का चालक चला गया। उसके बाद एक बाइक पर दो व्यक्ति खली बोरे लेकर वहां पर पहुचे तो यह भनक ग्रामणों को लग गई ग्रामीणों को कुछ आशंका हुई तो उन्हे बताया गया कि वह गैहू खरीदने के लिये आये है। लेकिन कुछ देर बाद ये लोग उस राशन के चावल को निजी बोरों में भरने लगे। इसकी सूचना ग्रामीणों ने 112 डायल पुलिस को दी सूचना पाकर पुलिस गाव में पहुची तो पुलिस की गाडी को देखकर बाइक पर सवार हो दो युवक भाग गये। पुलिस ने जिस मकान में यह काम किया जा रहा था। उस मकान मालिक से उनके बारे में पूछताछ कर कार्यवाही करने की बात कह रही है। पूठखास पुलिस चौकी इंचार्ज गवेन्द्रपाल  सिह का कहना कि हरियाणा मार्का चावल के खाली कटटे भी मौके से बरामद किये है। पूरे प्रकरण से प्रशासनिक अधिकारियों को अवगत करा दिया गया है जो जांच में सही पाया जायेगा उसी आधार पर अग्रिम कार्यवाही की जायेगी।


अहमद हुसैन
True story