बिन मौसम आंधी से किसानों की बर्बादी

 


अहमद हुसैन


 सरधना रविवार की सुबह लगभग साढ़े ग्यारह बजे तेज हवा के साथ आंधी चलनी शुरू हुई । आंधी आते ही बिजली चली गई। इससे बाद दिन में रात जैसा नजारा हो गया लोगों की बैचेनी बढ़ी और दहशत में आगए जिसके बाद तेज बारिश के साथ ओलावृष्टि भी हुई जिससे फसलों को भारी नुक्सान हुआ आम के बाग़ तो आंधी म पूरी तरह बर्बाद कर दिए ।
सोमवार की सुबह लगभग साढ़े 11 बजे तेज हवा चली शुरू हो गई। इसके बाद तेज हवा ने आंधी और तूफान की राह पकड़ ली। आंधी तेज होने के कारण कई स्थानों पर पेड़ टूट कर गिर गए। बिजली सप्लाई बंद होने के कारण लोग परेशान हो गए। दूसरी तरफ तेज आंधी चलने से किसान और बाग मालिको के चेहरों पर चिंता की लकीर खींच गयी जिसका डर था वही हुआ तूफ़ान ने फसलों को बर्बाद कर दिया आम की फसल को सबसे अधिक नुक्सान पहुंचा है।
-------
अहमद हुसैन
True story