भूख हड़ताल की चेतावनी के बाद शहर काजी ने की जमातियों से मुलाक़ात

 


(अहमद हुसैन)



शहर काजी ने डीएम से वार्ता कर जल्द ही कोई रास्ता निकलवाने का भरोसा दिलाया ।
जमात के लोगों ने उन्हें उनके वतन भेजे जाने की मांग की 
उन्होंने अपने पास उनके वतन लौटने की परमिशन भी दिखाई। सरधना में भूख हड़ताल करने की चेतावनी के बाद  क्वारंटाइन तब्लीगी जमात के लोगों से शहर काजी ने मुलाक़ात की और उन्हें समझाने के बाद उनकी समस्या का समाधान कराए जाने का आश्वासन भी दिया। 
शुक्रवार को शहर काजी मौलाना नौशाद फलावदी व चेयरपर्सन पुत्र शाहवेज अंसारी ने एसडीएम अमित कुमार भारतीय से अनुमति लेकर जमात के लोगों से मुलाकात की और उनकी पीड़ा जानी। जमात के लोगों ने बताया कि उन्हें उनके वतन भेजे जाने के लिए पास बन चुके है जाने की तिथि मिल चुकी है इसके बाद भी उन्हें यहाँ कैद किया हुआ है। जमात के लोगों  ने बताया कि 90 लोगों के लिए मात्र दो गुसलखाने व पांच टॉयलेट है। जिसके चलते हर दिन उन्हें भारी परेशानी से गुजरना पड़ रहा है। जमात के लोगों में जबरदस्त नारजगी जाहिर की है। जिसके चलते उन्होंने भूख हड़ताल की बात कहकर अपने गुस्से का इजहार किया। 
शहर काजी मौलाना नौशाद ने बताया कि जैन इंटर कॉलेज में बने क्वारंटाइन सेंटर में आंध्र प्रदेश बिहार मिजोरम आदि स्थानों से आई जमात के 90 लोगो को रखा हुआ है। जब उन्हें पता चला की जमाती भूख हड़ताल की बात कर रहे है तो उन्होंने शाहवेज अंसारी के साथ जाकर जमात के लोगों को समझाने का प्रयास किया है। उन्होंने व्यवस्थाओं का जायजा लिया और जमात के अमीरों से खाने-पीने रहने उनके साथ व्यवहार व अन्य समस्याओं और जरूरतों के बारे में चर्चा की। जिसमें जमात के लोगों ने खाने-पीने में रहने के बारे में ज्यादा बातें ना कर के अपने दुख को जाहिर करते हुए अपने अपने घरों को जाने की अवस्था जल्द से जल्द करने की बात रखी। उन्होंने बताया कि 19 तारीख के ट्रेन रिजर्वेशन की परमिशन दिखाते हुए सरकार द्वारा जारी पास भी दिखाए जिस पर शहर काजी मौलाना नौशाद ने उनको तसल्ली देते हुए कहा कि हम सब सरधना मेरठ के जिम्मेदार लोग प्रशासन को अवगत करा चुके हैं और जल्दी ही एक प्रतिनिधिमंडल मेरठ डीएम से मुलाकात कर इस संबंध में उन्हें अवगत कराएगा और आप लोगों को घर भेजे जाने की मांग करेगा। इस बारे में सरधना थाना प्रभारी उपेंद्र कुमार मलिक अधिशासी अधिकारी अमिता वरुण को भी अवगत कराया गया। ताकि  इन लोगों की समस्त समस्याओं का ख्याल रखा जाए। जैसे 90 लोगों के लिए मात्र 6 टॉयलेट बहुत कम बताई उन्होंने  क्वारंटाइन सेंटर पर मोबाइल टॉयलेट की व्यवस्था किए जाने और रमजान में खाने-पीने का सामान समय से पहुंचाए जाने की बात कही।  इसके बाद दोनों लोग लोक प्रिया स्कूल में क्वारंटाइन किए गए लोगों से मिले उनको तसल्ली देते हुए हौसला बढ़ाया। उन्होंने प्रशासन का पूर्ण सहयोग करने की बात कही।  जुमे की नमाज के बाद पूरे आलम के लोगों के लिए दुआ की गई। 
---
अहमद हुसैन
True story


Popular posts from this blog

गोरखपुर के कलक्टर विजय किरण आनंद व SSP पर NHRC में केस दर्ज

सिटी सेंटर में हुई लाखो की चोरी का खुलासा, महिला सहित 5 अरेस्ट, 31 मोबाइल व नकदी बरामद

चाऊमीन खिलाने के बहाने घर से बुलाकर ले गए युवक की दोस्तों ने ही सिर में गोली मारकर हत्या