संकट की घड़ी में ‘ग्रामीण समाज विकास केंद्र’ ने उठाया बीड़ा: मेहर चंद

Ravita
गरीबों को वितरित की खाद्य सामग्री: मेहर चंद
एंकर- कोरोना वायरस के कारण देश में लॉकडाउन किया गया है और लोग घरों में कैद हो गए है। और गरीब तबके के लोगों के सामने रोजी रोटी का संकट आन पड़ा है। लॉकडाउन के कारण सबसे ज्यादा दिहाड़ी मजदूर प्रभावित हुए है। ऐसे में कुछ सामाजिक संस्थाओं ने गरीबों की मदद का बीड़ा उठाया और इनकी मदद के लिए आई। 
मेरठ में ‘ग्रामीण समाज विकास केंद्र’ ने गरीबों और असहाय लोगों की मदद के लिए खाद्य सामग्री वितरित की और उनकी हर संभव मदद का आश्वासन दिया। संस्था के सचिव मेहर चंद का कहना है कि हमारी संस्था ‘ग्रामीण समाज विकास केंद्र’ इस संकट की घड़ी में गरीब और असहाय लोगों की मदजद के लिए हर संभव प्रयास कर रही है। और दिहाड़ी मजदूरों को खाद्य सामग्री वितरित की। उन्होंने कहा कि हमारी संस्था आगे भी यह प्रयास जारी रखेंगी।
बता दे ‘ग्रामीण समाज विकास केंद्र’ एक ऐसी संस्था है जो लोगों को स्वास्थ्य के प्रति जागरक करने का ही काम नहीं करती बल्कि महिलाओं को जीवन में आगे बढ़ने के लिए प्रेरित भी करती है। उनको सिलाऊ-कढ़ाई सिखाकर रोजगार के अवसर भी प्रदान करती है। इतनी ही नहीं महिला अपनी शक्ति के दम पर पूजनीय बनी रहे इसके लिए यह संस्था पिछले कई साल से कार्य कर रही है तथा महिलाओं के उत्थान को समर्पित है। गरीब महिलाओं को समाज में आगे बढ़ाना ही इस संस्था का उद्देश्य है। संस्था द्वारा स्वास्थ्य के प्रति जागरुकता के साथ-साथ महिलाओं को सिलाई व कढ़ाई का प्रशिक्षण दिया जाता है। इसमें बड़ी संख्या में महिलाएं अपना बुटिक सेंटर खोलकर दूसरी महिलाओं को भी स्वावलंबी बना रही हैं।


Popular posts from this blog

शादी में दिखावे की हदे पार, लड़की पक्ष ने विवाह स्थल पर लगवाया फ्लैस्क, लिखा :- गाडी के साढे 7 लाख नकद दिए दूल्हे को

इस्लामिया इंटर कालिज के वजूद पर खतरा मंडराया

समाज को शिक्षित व सुरक्षित रखने का संदेश दिया