मुरादाबाद में पुलिस टीम पर हमला निंदनीय, सपा नेता चंद्रशेखर यादव ने उत्तरप्रदेश सरकार से की दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा देने की मांग

हरिद्वारनईम चौधरी। देश के अलग-अलग हिस्सों से इस समय स्वास्थ्य कर्मियों और पुलिसवालों पर हमले की खबरें आ रही हैं। कई जगहों से पत्थरबाजी की घटना सामने आई है। इन घटनाओं को लेकर समाजवादी लोहिया वाहिनी के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष चंद्रशेखर यादव बेहद नाराज हैं। कोरोना योद्धाओं पर हाे रहे हमलाें पर कड़े शब्दों में मुरादाबाद मैं पुलिस टीम पर हमला करने वालों की भर्त्सना की , सपा लोहिया वाहिनी के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष चंद्रशेखर यादव ने कहा अपनी जान जोखिम में डाल कर हमारे जीवन की रक्षा करने वाले डाक्टरों, नर्सों और पुलिस कर्मियों पर हमला निंदनीय है।‬ देश में काेराेना वायरस की दहशत बढ़ती जा रही है। लगातार पाॅजिटिव केस सामने आ रहे हैं। ऐसे में कोरोना योद्धाओं की भूमिका काफी बढ़ गई है। स्वास्थ्य विभाग सहित पुलिस लोगों को कोरोना से बचाने के लिए दिन रात एक कर रही है, लेकिन कई जगहों पर लोग न सिर्फ कानून तोड़ रहे हैं, बल्कि लॉकडाउन का पालन भी नहीं कर रहे। इस बीच कुछ लाेगाें ने डाक्टरों और पुलिस पर हमला कर दिया। जिसमें कर्मचारी घायल हुए। पिछले दिनों पंजाब में भी ऐसे कुछ एक मामला सामने आया था उसमे पुलिसकर्मियों पर हमला किया था श्री चंद्रशेखर यादव ने उत्तर प्रदेश सरकार से मांग की है दोषियों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाए कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाए आगे से कोई दोबारा ऐसी गलती ना करें जिससे भी समाज में गलत संदेश जाए।
लॉकडाउन में भुखमरी से परेशान गरीब-मजदूरों के लिए ओर राहत पैकेज की घोषणा करे केंद्र व राज्य सरकारे: चंद्रशेखर यादव

हरिद्वार। कोरोना के कारण पूरे देश में लॉकडाउन से मजदूरी करने वाले लोग शहर से अपने गांव की ओर पैदल जा रहे थे। गरीब- मजदूरों की मदद के लिए पुलिस प्रशासन भी आगे आ रहा है। वहीं सूबे के बड़े नेता भी सरकार से राहत देने की अपील कर रहे हैं।इसी बीच समाजवादी लोहिया वाहिनी के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष चंद्रशेखर यादव ने केंद्र व राज्य सरकारों से लॉकडाउन के दौरान गरीबों व मजदूरों के लिए ओर राहत पैकेज की घोषणा की मांग की है।21 दिनों के लॉकडाउन वाली पाबंदियों को कड़ाई से लागू करने की वजह से देश की गरीब व मेहनतकश जनता को पेट भरने यानि उनकी रोटी-रोजी की समस्या खडी हो गई थी अब 19 दिन का लॉक डाउन ओर बढ़ा दिया गया है।
उन्होंने इस समस्या को दूर करने के लिए केन्द्र व राज्य सरकारों से ओर राहत पैकेज घोषित करने की मांग पर तुरंत ध्यान देने की मांग की है। उन्होंने कहा है कि इस देशबंदी में प्राइवेट सेक्टर को लॉकडाउन के लिए दी गई विभिन्न रिआयतों के साथ-साथ वहां काम करने वाले लोगों को चार महीने का वेतन दिलाने की व्यवस्था भी सरकार को सुनिश्चित की जानी चाहिए।


Popular posts from this blog

गोरखपुर के कलक्टर विजय किरण आनंद व SSP पर NHRC में केस दर्ज

शादी में दिखावे की हदे पार, लड़की पक्ष ने विवाह स्थल पर लगवाया फ्लैस्क, लिखा :- गाडी के साढे 7 लाख नकद दिए दूल्हे को

सिटी सेंटर में हुई लाखो की चोरी का खुलासा, महिला सहित 5 अरेस्ट, 31 मोबाइल व नकदी बरामद