संचारी रोगों की रोकथाम के लिये किया संवेदीकरण



मेरठ। बदलते मौसम व कोरोना वायरस के प्रति गंभीर बनी स्थिति के बाद स्वास्थ्य विभाग ने पूरी तरह कमर कस ली है। शहर से लेकर देहात तक संचारी रोगों की रोकथाम के लिये अभियान चलाया जा रहा हैए जिसमें एएनएमए आशा व आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को संचारी रोगों की रोकथाम के लिये संवेदीकरण किया जा रहा है ।
ब्लॉक रोहटा में शुक्रवार को एएनएम, आंगनबाड़ी व आशा कार्यकर्ताओं की गोष्ठी का आयोजन किया गया, जिसमें विशेष संचारी रोग नियंत्रण एवं दस्तक अभियान, कोरोना वायरस से बचाव, कुपोषण, एनीमिया मुक्त भारत कार्यक्रम, प्रधानमत्री मातृ वंदना योजना व अन्य योजनाओं और कार्यक्रम के विषय में चर्चा की गयी। जिला मलेरिया अधिकारी सत्य प्रकाश ने कहा .विशेष संचारी रोग व दस्तक अभियान एक कार्यक्रम न होकर एक जनआंदोलन है। इसमें जन-जन का सहयोग आवश्यक है। मौसम के परिवर्तन पर कई बीमारियों का प्रकोप तेजी से बढ़ गया है। काफी लोग इसके प्रति जागरूक नहीं है। उन्होंने कहा अभियान के लिये पंचायत प्रतिनिधियों,स्कूल प्रबंधन समितियों, सामाजिक संगठनों व सार्वजनिक व निजी क्षेत्र की समावेशी भागीदारी भी अपेक्षित है। उन्होंने बताया महिलाओं व बच्चों  में संचारी रोग, कुपोषण को दूर करने के लिये महत्वाकांक्षी अभियान चलाया गया है। उन्होने गोष्ठी में आयीं एएनएम, आंगनबाड़ी व आशा कार्यकर्ताओं से कहा इस अभियान में उनका दायित्व महत्वपूर्ण है। सरकार की प्राथमिकता है कि सभी गांवों को संचारी रोगों व कुपोषण से मुक्त किया जाए। उन्होंने कहा संचारी रोग नियंत्रण व दस्तक अभियान के प्रति लोगों में जितनी ज्यादा जागरूकता फैलेगी उतना ही अभियान सफल होगा। इसके लिये लोगों को साफ सफाई एबीमार होने पर चिकित्सकों से परार्मश के प्रति जागरूक किया जाए। गोष्ठी में एक दर्जन गांवों की एएनएम, आशा व आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने  हिस्सा लिया।