तिहाड़ जेल में तैनात पुलिसकर्मी जानलेवा हमला।


(अहमद हुसैन)


 जमीनी विवाद में परिवार के ही लोगों ने दिल्ली पुलिस के सिपाही पर लाठी-डंडों से हमला करते हुए घायल कर दिया। घायल सिपाही किसी तरह जान बचाकर थाने पहुंचा और आरोपियों के खिलाफ तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की। अपने भाई के साथ थाने आए घायल को पुलिस ने  उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया है। 
लहूलुहान हालत में थाने पहुंचे नीरज पुत्र राजवीर सिंह निवासी बुबकपुर ने बताया कि वह दिल्ली पुलिस में सिपाही के पद पर है। और छुट्टी पर अपने घर आया हुआ है। उसका चाचा ऋषिपाल सामूहिक खाते की भूमि में बगैर कुर्रा बंदी के मकान बना रहा है। जब उससे जमीन का बंटवारा कर के मकान बनाने की बात कही तो वह फसाद पर अमादा हो गया। इसी दौरान ऋषि पाल का भाई ओम कुमार व उनके पुत्र सुबोध सत्येंद्र अरविंद रविंदर आदि ने उस पर लाठी-डंडों से हमला कर दिया। गांव के लोगों ने आकर उसकी जान बचाई। पीड़ित नीरज ने उक्त आरोपियों के खिलाफ थाने में तहरीर देते हुए कार्रवाई की मांग की। पुलिस ने घायल नीरज को उपचार के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया है। पुलिस ने कार्यवाही करते हुए आरोपियों को भी थाने बुलवा लिया।


अहमद हुसैन
True स्टोरी


Popular posts from this blog

गोरखपुर के कलक्टर विजय किरण आनंद व SSP पर NHRC में केस दर्ज

सिटी सेंटर में हुई लाखो की चोरी का खुलासा, महिला सहित 5 अरेस्ट, 31 मोबाइल व नकदी बरामद

चाऊमीन खिलाने के बहाने घर से बुलाकर ले गए युवक की दोस्तों ने ही सिर में गोली मारकर हत्या