विश्व रेडियो डे पर विशेष...कमल मित्तल


सिसौली।सिसौली क्षेत्र में पहला रेडियो हमारे परदादा  स्वतंत्रता सेनानी डॉक्टर मित्रसैन मित्तल  सन 1948 में दिल्ली से लाये थे। जिसका सिसौली क्षेत्र के आम लोग उनके साथ बैठकर आनंद लेते थे।
आजादी के पूर्व से ही स्वतंत्रा सेनानी डॉक्टर मित्रसेन मित्तल के की कोठी में आमजन की चौपाल लगती थी जिसमें कभी-कभी अंग्रेज अधिकारी सहित जिले के बड़े अधिकारी आते जाते रहते थे।
स्वतंत्रता संग्राम में क्षेत्र में अग्रणी भूमिका निभाने वाले डॉक्टर मित्र सेन मित्तल ने राष्ट्रपिता गांधी जी की शहादत के समय जब दिल्ली में उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करने गए ,तब एक ट्रांजिस्टर लेकर सिसौली आए थे, जिसे सिसौली में क्षेत्र के लोगों को बड़ी घटनाओं की सूचना रेडियो द्वारा तुरंत उपलब्ध हो सके।
बताते हैं कि उस समय लोग देहाती कार्यक्रम वगैरह सुनने के लिए भी शाम के समय एकत्र हो जाया करते थे।