शिया बहुल गांव खिर्वा जलालपुर में जलाया अमेरिका का झंडा


                अहमद हुसैन


 अमेरिकी हमले में ईरान में शहीद हुए कासिम सुलेमानी व उनके साथियों की शहादत के बाद से खिर्वा जलालपुर में शोक की लहर है। खिर्वा जलालपुर में लोगों ने कासिम सुलेमानी को याद करते हुए खिराजे अकीदत पेश की। इस दौरान लोगों ने अमेरिका के खिलाफ आवाज बुलंद करते हुए जुलूस निकाला। जुलूस के दौरान अमेरिका के खिलाफ जमकर नारे लगाए। मौलाना रियाज मेहंदी ने  बताया कि कासिम सुलेमानी हमेशा मजलूमो की मदद करते थे। और दहशतगर्दों   का सफाया करते थे। जुलूस के बाद लोगों ने अपने गुस्से का इज़हार करते हुए अमेरिका का झंडा जलाते हुए उसे पैरों तले भी रौंदा। इस अवसर पर निसार हैदर मोहम्मद अब्बास प्रधान रजी मोहम्मद मुस्तफा अब्बास जैदी मुस्ताक हुसैन नासिर अब्बास जरी अब्बास कंबर अब्बास जिया अब्बास आदि मुख्य रूप से शामिल रहे। 
बतादें कि अमेरिका ने गत गुरुवार देर रात इराक की राजधानी बगदाद में हवाई हमला कर दिया था । इस हमले में ईरान के सेना प्रमुख मेजर जनरल कासिम सुलेमानी सहित 8 अधिकारियों की मौत हो गई थी । सुलेमानी का काफिला बगदाद एयरपोर्ट की ओर बढ़ रहा था। इसी समय अमेरिका ने हवाई हमला कर दिया था। इस हमले में पॉप्‍युलर मोबलाइजेशन फोर्स के डेप्‍युटी कमांडर अबू मेहदी अल मुहांदिस की भी मौत हुई थी। खिर्वा जलालपुर में सभी शहीदों को याद करते हुए खिराजे अकीदत पेश की गयी ।


अहमद हुसैन
True story