मेरठ की आरूषि व विनायक  बाल पुरस्कार से सम्मानित  ० चयन प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार के तहत हुआ था

संजय वर्मा
मेरठ।साल 2019 में प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार से मेरठ की ईहा दीक्षित के सम्मानित होने के बाद इस साल के लिए शहर के दो बच्चों का चयन किया गया है। आरुषि शर्मा और विनायक बहादुर को दिव्यांग श्रेणी में सम्मानित किया गया। बुधवार को राष्ट्रपति भवन में आयोजित सम्मान समारोह में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद देशभर से चुने गए बच्चों के साथ दोनों को बाल शक्ति पुरस्कार से सम्मानित किया। इस सम्मान के साथ ही दोनों खिलाडियों को एक-एक लाख रुपये नकद, एक-एक टैबलेट, पदक, सर्टिफिकेट व प्रशस्ति पत्र दिया गया। दोनों मेधावियों के साथ उनके परिजन भी इस कार्यक्रम का हिस्सा बने।
महिला एवं बाल विकास मंत्रालय की ओर से आयोजित इस समारोह के लिए आरुषि व विनायक को पत्र भेजकर आमंत्रित किया गया। 23 जनवरी को ये राजपथ पर गणतंत्र दिवस परेड का फुल ड्रेस रिहर्सल देखेंगे और रात में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ डिनर करेंगे। 24 जनवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मुलाकात और लंच। 25 को दिल्ली दर्शन करेंगे और 26 को गणतंत्र दिवस समारोह का हिस्सा बनेंगे। दोनों बच्चे 27 को मेरठ लौटेंगे। 
आरुषि की उपलब्धियां
दीवान पब्लिक स्कूल की छात्रा आरुषि बैडमिंटन खिलाड़ी हैं और मूक बधिर हैं। आरुषि ने एशिया पेसिफिक डेफ यूथ बैडमिंटन चैंपियनशिप, मलेशिया 2018 के युगल में कांस्य पदक जीता। इसके अलावा छठे नेशनल जूनियर व सब-जूनियर गेम्स ऑफ डेफ, चेन्नई 2019 युगल में स्वर्ण व मिक्स्ड डबल में कांस्य पदक, पांचवें नेशनल जूनियर व सब-जूनियर गेम्स ऑफ डेफ, रांची 2017 में एकल व मिक्स्ड डबल में स्वर्ण पदकए 21वीं नेशनल गेम्स ऑफ द डेफ, चेन्नई 2017 में रजत पदक, चौथे नेशनल जूनियर व सब-जूनियर गेम्स ऑफ डेफ, जमशेदपुर 2016 के मिक्स्ड डबल में स्वर्ण व एकल में कांस्य पदक, 20वें नेशनल गेम्स ऑफ डेफ, हैदराबाद 2016 में कांस्य पदक जीता है। इसके अलावा प्रदेश व जिला स्तर पर स्वर्ण पदक जीते हैं।
विनायक के नाम भी पदकों की झड़ी
शांति निकेतन विद्यापीठ में कक्षा आठवीं के छात्र विनायक बहादुर भी बैडमिंटन खिलाड़ी हैं और मूक बधिर हैं। उनके माता-पिता भी मूक बधिर हैं। विनायक ने बैडमिंटन में राष्ट्रीय स्तर पर चार स्वर्ण पदक, तीन रजत पदक व एक कांस्य पदक जीता है। इसी तरह प्रदेश स्तरीय प्रतियोगिता में 10 स्वर्ण पदक, नौ रजत पदक और तीन कांस्य पदक जीते हैं। विनायक को राष्ट्रीय खेल दिवस के अवसर पर 17वें बिहार दिव्यांग खेल अवार्ड समारोह 2017 में पटना में आयोजित समारोह में आउटस्टैंडिंग एबिलिटी इन द फील्ड ऑफ स्पोट्र्स अवार्ड से पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने सम्मानित किया था।