सख्त पहरेदारी के बीच नमाजे  जुमा संपन्न शासन रहा अलर्ट


                 (अहमद हुसैन)


एलआईयू की रिपोर्ट और  अफवाहों से अलर्ट पुलिस ने
जुमे की नमाज को लेकर किसी भी प्रकार की लापरवाही नहीं बरती। आज शुक्रवार की नमाज के बाद किसी तरह का कोई विरोध प्रदर्शन एनआरसी को लेकर ना हो इसी को मद्देनजर रखते हुए पुलिस प्रशासन फिक्र मंद  रहा। परंतु सब कुछ ठीक रहने पर  पुलिस प्रशासन वह आम लोगों ने राहत की सांस  ली।
 नागरिकता संशोधन कानून को लेकर जुमे की नमाज़ के दौरान नगर में भारी पुलिस फ़ोर्स तैनात रहा। शुक्रवार का दिन आशंकाओं के बीच बीता। नगर व क्षेत्र में पुलिस और प्रशासन की मुस्तैदी के चलते जुमे की नमाज शांतिपूर्वक संपन्न हुई। जुमे की नमाज के बाद सभी अकीदतमंद अपने अपने घरों की ओर रवाना हो गए। उपजिलाधिकारी अमित कुमार भारतीय सीओ पंकज कुमार थाना प्रभारी उपेन्द्र कुमार मालिक ने इस दौरान जामा मस्जिद के बाहर और अन्य सभी मस्जिदों में एहतियातन भारी संख्या में पुलिस फ़ोर्स तैनात किया था।
 बतादें कि पिछले एक हफ्ते पहले जुमे की नमाज के बाद नागरिकता संशोधन कानून को लेकर विभिन्न इलाकों में हुए विरोध प्रदर्शन को लेकर इस बार पुलिस और प्रशासन अलर्ट रहा। हालांकि सरधना थाना प्रभारी उपेंद्र मलिक में शुक्रवार से पूर्व ही लगभग आधा दर्जन जगहों पर शांति समिति की बैठक कर सब कुछ सामान्य कर लिया था परंतु फिर भी एहतियात के तौर पर जुमे की नमाज को लेकर पुलिस और प्रशासन ने संवेदनशील इलाकों में गस्त की। अधिकारियों द्वारा लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की।  इसी के साथ पुलिस ने लोगों के बीच शांति की। पुलिस प्रशासन की एक्सरसाइज के चलते जुमे के दिन किसी भी तरह का कोई प्रदर्शन नहीं हुआ। पुलिस और प्रशासन के अधिकारी लगातार गश्त करते नजर आए। जुमे की नमाज से पहले और बाद में रोजमर्रा की तरह सड़कों पर चहल-पहल रही। कोई विरोध प्रदर्शन ना होने से पुलिस और प्रशासन ने राहत की सांस ली।
 
अहमद हुसैन
True story