चौधरी बशीर खान इंटर कॉलेज कॉलेज का स्थापना दिवस व संस्थापक चौधरी बशीर खां का जन्मदिन मनाया गया


दुनिया में इंसान के आवागमन का सिलसिला हजारों सालों से लगातार चला रहा है। अनगिनत लोग दुनिया में आए और चले गए कोई अपने किए गए कामों से  मशहूर हो गया तो कोई यूँ ही दुनिया से रुखसत हो गया।संसार में हजारों लोग हैं जो मर कर भी आज लोगों के दिलों में जिंदा है। बात अगर तालीम की करें तो अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी को कायम करने में सर सैयद अहमद खान को आज पूरी दुनिया जानती है। जिक्र जब अपने क्षेत्र का आता है तो बाबू कृपाराम सरूरपुर और चौधरी बशीर खान हर्रा का नाम सरे फेहरिश्त है इन 2 लोगों ने क्षेत्र को तोहफे के रूप में दो बड़े कॉलेज दिए जिनमें आज  सैकड़ों बच्चे तालीम हासिल कर रहे  और उसे तोहफे का नाम है चौधरी बशीर खान इंटर कॉलेज जो वर्षों पहले चौधरी बशीर खा ने बड़ी मेहनत और लगन के साथ  क़ायम किया था इसी खुशी में आज
  चौधरी बशीर खाँ इण्टर कॉलेज हर्रा का स्थापना दिवस तथा संस्था के संस्थापक स्वर्गीय श्री चौधरी बशीर खाँ का 125वां यौमे पैदाइश मनाया गया कार्यक्रम की अध्यक्षता विद्यालय के प्रबंधक कुंवर मोहम्मद अली ने की एवं संचालन श्री राव गय्यूर अली ने किया इस अवसर पर सांस्कृतिक कार्यक्रम भी किए गए छात्र छात्राओं ने चौधरी बशीर खाँ जी के जीवन पर प्रकाश डालते हुए बताया  के चौधरी बशीर खान साहब  पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह के  बहुत नजदीकी माने जाते थे  तथा  उन्हीं की सलाह पर  हर्रा जैसी  जगह पर  चौधरी बशीर खा साहब ने  एक  तालीमीइदारा कायम किया  जिसका नाम आज चौधरी बशीर खा इंटर कॉलेज है। इस अवसर पर कॉलेज छात्राओं ने नाटक प्रस्तुत किया। कार्यक्रम में उपस्थित वक्ताओं ने  बशीर खा द्वारा किए गए योगदान को सराहा।साथ ही छात्र-छात्राओं को पुरस्कार भी वितरित किए गए।इस मौके पर विद्यालय के प्रधानाचार्य श्री अकील अहमद, एहसान अली, श्री मोहम्मद वसीम,  मोहम्मद जीशान, मोहम्मद फैसल, श्रीमती  ऋतु तेवतिया, व  इसरार, मोहम्मद वासिक आदि मौजूद रहे।,,,,,


अहमद हुसैन
True story