सड़क सुरक्षा पर विचार गोष्ठी


सरधना तहसील परिसर में।  परिवहन विभाग द्वारा आयोजित सड़क सुरक्षा सप्ताह के अंतर्गत एक विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया। जिसमें उप जिलाधिकारी अमित भारतीय द्वारा भी शिरकत की गई। गोष्टी की अध्यक्षता पूर्व चेयरमैन नगर पालिका निजाम अंसारी ने की। तो संचालन का जिम्मा शिक्षक नेता दीपक शर्मा ने निभाया। गोष्टी का उद्देश्य हर रोज हो रही सड़क दुर्घटनाओं पर लोगों को जागरूक करना था। गोष्टी के अंतर्गत बोलते हुए उप जिलाधिकारी अमित भारतीय ने कहां के आज सड़कों पर नई उम्र के युवक बहुत तेजी और लापरवाही से बाइक चलाते हैं।इसी तेजी के चलते सड़क हादसों में तेजी आई है। जिसको रोकना उनके परिजनों का काम है। परिवहन विभाग से संबंधित  अमित तिवारी ने मौजूद सभी को सड़क सुरक्षा नियमों का पालन करने के लिए प्रेरित किया।एआरटीओ श्वेता वर्मा ने लोगों को सुरक्षित वाहन चलाने और इस जागरूकता की शुरुआत अपने ही परिवार से  करने की बात कही। साथ ही कहा के उच्च न्यायालय द्वारा पूर्व में ही यह आदेश पारित हो चुका है अगर कोई दुर्घटना हो जाती है तो  गंभीर घायल को अस्पताल पहुंचाने की जिम्मेदारी निभाने वाले को पुलिस किसी भी तरीके से परेशान नहीं करेगी। इसलिए घायल को अस्पताल पहुंचाने में किसी भी नागरिक को देर नहीं करनी चाहिए। ओवरलोड वाहनों पर पूछे गए सवाल में श्वेता वर्मा ने बताया की विभाग अब इन ओवरलोड वाहनों  पर काफी गंभीरता से काम ले रहा है। और लगातार कार्यवाही हो रही है। गोष्टी में जनप्रतिनिधियों ने भी अपने विचार रखे। उत्तर प्रदेश संयुक्त व्यापार मंडल के, ललित गुप्ता ने कहां के हम लोग इस तरह सभागार में बैठकर लोगों को जागरूक नहीं कर सकते बल्कि इसके लिए हमें सड़कों पर खड़े होकर तेज रफ्तार वाहन चलाने वालों को समझाना होगा। वही व्यापार मंडल अध्यक्ष वीरेंद्र चौधरी ने भी अपने विचार रखते हुए कहां। के हम अपने बच्चों को दुपहिया वाहन तो खरीद करतो  दे देते हैं परंतु उनका लाइसेंस और अन्य कागजात पूरे नही करते  ना हीं  उनको सड़क पर तेज गाड़ी चलाने से  नहीं रोकते। जिसके दुष्परिणाम हमारे सामने आते हैं। इस अवसर पर हाजी अकबर चौधरी।विद्यार्थी विकास मंच के अध्यक्ष फैयाज अहमद। मनमोहन त्यागी शावेज अंसारी, पर्यावरण धर्म समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष जितेंद्र पांचाल के साथ-साथ सैकड़ों लोग मौजूद रहे।


अहमद हुसैन
 ट्रू स्टोरी