बच्चों की सेहत बनाएगी सरकार,  जिले के २०५५ आंगनवाडी केन्दों पर आने वाले बच्चों को मिलेगा गर्मागरम भोजन

(संजय वर्मा)
 मेरठ । अब जिले के आंगनवाडी केन्द्रो में आने वाले बच्चों  की सेहत का ध्यान रखने के लिये प्रदेश सरकार गंभीर हो गयी है। इसके तहत आंगनवाडी केन्द्रो पर बच्चों के लिये सुपोषित बनाने के लिये गर्मागरम भोजन देने की तैयारी शुरू कर दी गयी है। इसके लिये परिसर में ही बच्चो के लिये भोजन तैयार कराया जाएगा। योजना की तैयारी अंतिम चरण में है। इसके बाद सभी आंगनवाडी केन्द्रों पर भोजन की व्यवस्था की जाएगी।
 बता दें जिले में वर्तमान समय में २०५५ आंगनवाडी केन्द्र संचालित है। इन आंगनवाडी केन्दों पर पढने आने वाले बच्चाों को अभी तक ताजा भोजन नहीं मिलता था। लेकिन अब उन बच्चों को बेसिक स्कूलों की तरह मध्यान्ह भोजन के रूप में प्रतिदिन ताजा बना हुआ पौष्टिïक भोजन मिलना आरंभ हो जाएगा। इसके लिये हॉट कुक्ड योजना के तहत बाल विकास एवं पुष्टïाहार विभाग को अनाज भी उपलब्ध कराया जा चुका है। सीडीओ ईशा दुहन ने बताया आंगनवाडी केन्द्रोंं के आने वाले ३ से ६ साल के बच्चों को दोपहर के समय भोजन देने के  निेर्देश शासन से मिल चुके है। आंगनवाडी केन्द में पढने वाले बच्चों को खाना बनाने के लिये अलग से रसोईया बनने की जगह विद्यालयों के मध्यान्ह भोजन मिड -डे मील बनाने वाली रसाई में तैयार किया जाएगा।
 जिला कार्यक्रम अधिकारी विनीत कुमार ने बताया ग्राम प्रधान व आंगनवाडी कार्यकत्र्ता के संयुक्त खाते में आने वाली कन्वर्जन कास्ट आंगनवाडी केन्दों पर जाएगी। इस योजना को लाभ जिले के संचालित आंगनवाडी केन्द्रो पर पंजीक्त बच्चो को मिल सकेगा। प्रदेश सरकार ने कन्वर्जन मनी ४ रूपये ५० पैसे लाभार्थी प्रतिदिन के हिसाब निर्धारित की है। उन्होनें बताया उक्त कन्वर्जन मनी में १ रूपया रसोईया का पारिश्रमिक,५० पैसे आंगनवाडी सहायिका का पारिश्रमिक ,५०  पैसे बेसिक शिक्षा विभाग को इंधन व गैस के २५ पैसे राशन की ढुलाई पर व दो रूपये २५ पैसे भोजन पकाने की सामग्री ,सब्जी मसाले आदि के लिये प्रति बच्चे प्रतिदिन के हिसाब से प्रावधान किया गया है। प्राथमिक विद्यालयों से थोडी दूर पर संचालित आंगनवाडी केन्दों पर भोजन को पहुंचाने का कार्य आंगनवाडी सहायिका करेगी। भोजन तैयार होने के उपरान्त केन्द्र की सहायिक द्वारा अपने आंगनवाडी केन्द्र पर गर्म पकाया भोजन सुरक्षित एंव साफ बर्तन में रखकर ले जाया जाएगा तथा आंगनवाडी कार्यकत्र्ता व मात्मात समिति के अध्यक्ष, मुख्य सेविका ,ग्राम प्रधान के समक्ष वितरण किया जाएगा।