अतिक्रमण के आरोप में 4 दुकानदारों को नोटिस। जवाब ना देने पर पालिका ने की बड़ी कार्रवाई।दुकानदारों पर लगाया 50-50 हजार का जुर्माना। मामूली काम करने वाले गरीब लोगों पर उत्पीड़न कार्यवाही से मचा हड़कंप

 


सरधना नगर में अतिक्रमण कर रहे लोगों ने नगर पालिका द्वारा भेजे गए नोटिस का जवाब नहीं दिया तो पालिका प्रशासन ने भारी भरकम जुर्माना ठोक दिया है। जुर्माने की जानकारी मिलते ही दुकानदारों में हड़कंप मचा है। नगर पालिका अधिशासी अधिकारी अमिता वरुण ने प्रेस नोट के माध्यम से बताया कि लोगों ने नगर में मुख्य मार्गों व बाजारों मैं अतिक्रमण कर रखा है।  अतिक्रमण करने वाले लोगों को चार माह पूर्व नोटिस देकर सड़क के पास से सामान उठाने के नोटिस दिए गए थे लेकिन उनका जवाब दुकानदारों ने नहीं दिया। जिसके चलते नगर पालिका की ओर से जुर्माना नोटिस दुकानदारों को भेजे हैं। यदि वह समय सीमा के अंदर जुर्माना नहीं भरते तो तहसील स्तर भू राजस्व की भांति जुर्माना वसूल किया जाएगा। न्यायालय में चालान अभियोग दायर कर वसूली की जाएगी जिसके खर्चे की जिम्मेदारी स्वयं दुकानदारों की होगी। उन्होंने बताया कि सरधना में तहसील रोड पर पशु चिकित्सालय के निकट नरेंद्र उर्फ पिंटू पुत्र डालचंद को नोटिस जारी किया गया था। बताया गया कि नरेंद्र ने सड़क के किनारे रोड़ी बदरपुर रेत डालकर सड़क पर अवरोध उत्पन्न कर रखा था जिस कारण आने-जाने वाले वाहन चालकों और लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ता था मार्ग हर समय जाम की चपेट में रहता है। एनजीटी एक्ट 2010 की धारा 15 व 16 में प्रावधानों के अनुसार वायु प्रदूषण स्मोक की श्रेणी में आता है। नोटिस जारी करने के बाद भी नरेंद्र ने मार्ग से सामग्री को नहीं हटाया। जिसके बाद अब नगर पालिका ने नरेंद्र पर 50 हजार का जुर्माना लगाया है एक सप्ताह के भीतर नरेंद्र जुर्माना नहीं भरता तो यह मामला तहसील को भेज दिया जाएगा। इसके अलावा दूसरा मामला दौराला रोड स्थित राजेंद्र कुमार पुत्र चौहान सिंह निवासी मोहल्ला गढ़ी खटीकान दौराला रोड सरधना का है राजेंद्र ने भी सड़क पर रोड़ी बदरपुर डालकर सड़क पर अवरोध उत्पन्न कर रखा था। राजेंद्र पर भी 50 हजार  का जुर्माना लगाया गया है। तीसरा मामला मनोज कुमार पुत्र मनफूल निवासी मोहल्ला गढ़ी खटीकान का है मनोज ने भी दौराला रोड पर मुख्य मार्ग पर रोड़ी बदरपुर रेत डालकर अवरोध कर रखा है। उसके ऊपर भी 50 हजार का जुर्माना लगाया गया है। चौथा मामला सरधना बिनौली मार्ग का है यहां जय श्रीराम टाइल्स के संचालक ने जैन हॉस्पिटल के निकट रोड़ी बदरपुर रेट डाल रखा है और सड़क अवरोध कर रखी है। जय श्रीराम टाइल्स के संचालक को भी 50 हजार के जुर्माना का आरोपित बनाया गया। सभी को एक सप्ताह के भीतर जुर्माना जमा करने का नोटिस दिया गया है। 50 पचास हजार के नोटिस मिलने के बाद उक्त दुकानदारों में हड़कंप मचा हुआ है। इस कार्यवाही से नाराज दुकानदारों का कहना है कि हम गरीब लोग दो वक्त की रोटी इसी काम से कामा रहे हैं हमने सड़क पर कोई अतिक्रमण भी नहीं किया हुआ है दुकानों के सामने सामान रखा हुआ है फिर हम पर ही कार्रवाई क्यों।देखने की बात यह है कि सरधना नगर में सैकड़ों मकान ऐसे बने हुए हैं जिन्होंने घरों के सामने आधी सड़क तक जीने और लेंटर निकाले हुए हैं। ट्रांसपोर्टरों ने छोटी-छोटी सड़कों पर 10,10 वाहन खडे  करके अतिक्रमण किया हुआ है।शहीद द्वार के निकट पंजाब बैंक पर दिन भर मोटरसाइकिलों  के कारण जाम लगा रहता है।उन पर कार्यवाही क्यों नहीं?


अहमद हुसैन
 ट्रू स्टोरी