अपनी मांगों के समर्थन में लेखपालों का एक दिवसीय धरना प्रदर्शन। तहसील प्रांगण में धरने पर बैठे क्षेत्र के सभी लेखपाल


सरधना |आठ सूत्रीय मांगों को लेकर लेखपालों  ने तहसील प्रांगण में धरना प्रदर्शन किया साथ ही मुख्य मंत्री के नाम प्रेषित एक ज्ञापन उपजिलाधिकारी को सौंपा गया। इस दौरान शासन-प्रशासन पर उपेक्षा का आरोप लगाते हुए मांगों के समर्थन में जमकर नारेबाजी की। साथ ही मांगें पूरी होने तक बेमियादी धरना जारी रखने की चेतावनी दी।
 सरधना तहसील प्रांगण में चले धरना प्रदर्शन की अध्यक्षता तहसील अध्यक्ष मनवीर सिंह ने की तथा संचालन सचिव सुरेश शर्मा ने किया। इस दौरान लेखपालों ने कहा कि शासन-प्रशासन दमननीति अपनाकर जायज मांगों को दबाना चाहता है। मांगों के समर्थन में धरनारत लेखपालों के विरुद्ध लगातार कार्रवाई की जा रही है। तहसील प्रशासन की ओर से लेखपालों को नोटिस भेजी गई।  उच्चाधिकारियों के इशारे पर लेखपालों को कार्रवाई का भय दिखाकर लेखपालों के खिलाफ साजिश रची जा रही है। लेकिन लेखपाल अपने हक हुकूक के लिए पीछे नहीं हटेंगे।
लेखपालों ने ग्रेड पे 2800 करने, पेंशन विसंगति को दूर करने, ई-डिस्ट्रिक्ट, डिजिटल इंडिया के कार्यों को करने को लैपटाप व टैबलेट देने, यात्रा, बाइक व स्टेशनरी भत्ता देने की मांग की। कहा कि जिला प्रशासन ने यदि आंदोलन को कुचलने का प्रयास किया, तो सड़क पर उतरकर हक की लड़ाई लड़ी जाएगी। धरने  में सुनील कुमार रामलाल सुशील गुप्ता प्रवीन जैन शिव कुमार जैन अशोक कुमार दिनेश कुमार आदि मौजूद रहे। लेखपालों ने प्रदर्शन के बाद मशाल जुलूस निकाला जिसके बाद अपना मांग पत्र उपजिलाधिकारी अमित कुमार भारतीय को सौंपा। 


अहमद हुसैन
True story