कलाम जयंती पर तालीमी बेदारी ने किया नेशनल सेमिनार


लखनऊ। शिक्षा के  क्षेत्र में पूरे प्रदेश में जमीनी काम करने वाली संस्था तालीमी बेदारी द्वारा 'भारत में शिक्षा: समस्याएं और संभावनाएं” विषय पर अंतरराष्ट्रीय बौद्ध शोध संस्थान, गोमती नगर में  एक सेमिनार का आयोजन किया गया।जिसकी अध्यक्षता पूर्व डीजीपी रिजवान अहमद ने की।कार्यक्रम का आगाज़ मुख्य अतिथि डॉ.अब्दुल कदीर ने शमा रोशन कर किया। संस्था के अध्यक्ष डाॅ. वसीम अख्तर ने अतिथियों को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। उन्होंने कहा कि संस्था पूरे देश मे शिक्षा के क्षेत्र में काम कर रही है। तालीम के प्रति यदि जागरूकता होगी तभी जाकर मनुष्य अपने अधिकारों के प्रति जागरूक रह सकता है।बिहार के पूर्व सांसद साबिर अली ने कहा कि शिक्षा से सामाजिक-आर्थिक विकास संभव है। इंजिनियर अख्तर हुसैन, डॉ॰ बंसत कुमार, मेरठ से जावेद मलिक,आदिल खान व सगीर खाकसार ने कार्यक्रम को संबोधित किया। पूर्व डीजीपी रिजवान अहमद ने कहा कलाम साहब के विकसित भारत के सपने को पूरा करने के लिए समाज के शिक्षित, जागरूक और सक्षम लोगों को आगे आना होगा। सेमिनार में छात्रों के "ड्राॅपआउट की समस्या और समाधान” पर शिक्षाविद ने अपने विचार रखे तथा मेधावी छात्र-छात्राओें को भी सम्मानित किया। उप श्रमायुक्त शमीम अख्तर ने कहा कि डॉक्टर कलाम ने देश को विश्व शक्ति बनाने की राह खोली। उनके द्वारा जो कार्य किये गए वे देश के इतिहास में स्वर्ण अक्षरों में दर्ज रहेंगे।