झोपड़ पट्टी में बंजारा परिवारो को भेट किये उपहार तो.......

इस दिवाली कुछ अलग, ऐसे भी कुछ परिवार अपने यहां है जो दीपावली की चकाचोंध तो देख रहे थे, मगर दीपो के इस पावन पर्व से बहुत दूर थे, वजह आर्थिक तंगी। मगर मुज़फ्फरनगर की इस शख्सियत ने  अपने परिवार से पहले ऐसे उपेक्षित परिवारों को अपना मानते हुए दीपावली की शाम इन बंजारे परिवारों के बीच मनाई। समाजसेविका एवं योगगुरु समृद्धि त्यागी ने   भोपा रोड पर सड़क किनारे झोपड़ी में रहने वाले परिवारो के बीच जाकर उन्हें दीपावली के उपहार भेट किये तो यहां मौजूद परिवारो की आंखे ही भर आईं।इस  दीवाली उनको उपहार जिनकी दिवाली कभी मनती है कभी नहीं मनती.  उन्हें भी इंतजार रहता है भगवान के बन्दों  का,  कि कोई तो हमसे भी आकर कहेगा "हैप्पी दिवाली". समृद्धि त्यागी की एक तस्वीर को मुज़फ्फरनगर के वरिष्ठ पत्रकार मुकुल दुआ ने अपनी फ़ेसबुक से पोस्ट किया । जिस पर बधाई के कॉमेंट आने शुरू हुये।
फेसबुक पर कॉमेंट में पुलिस अधीक्षक बी बी चौरसिया लिखते है कि वे इस बारे मे अभी सोच ही रहे थे कि आप बाज़ी मार गई।