आंदोलन को मिला समर्थन

 


नानू गंग नहर पुल, सरधना ।।इशारा एजूकेशनल व वैलफैयर ट्रस्ट ने पुल निर्माण को धरने पर बैठे मास्टर शरणवीर सिंह को दिया समर्थन।
पिछले 6 दिनों से मेरठ करनाल हाईवे के कांवड़ मार्ग गंग नहर पर जर्जर हुए  पुल के नव निर्माण  को लेकर उठायी आवाज। सभी ने एक स्वर में कहा कि सिंचाई विभाग ने एक सूचना का बोर्ड लगाकर मात्र खानापूर्ति कर दी और यह साबित कर दिया है कि यह मौत का कुआँ है आपको जाना है जाओ और नही जाना मत जाओ।
सभी ने मांग की कोई बड़ा हादसा होने से पहले इस 160 वर्ष पुराने पुल पर वाहनों का आवागमन पूर्ण रूप बंद किया जाए और नये पुल का निर्माण कराया जाए। इस पुल से कारनाल हाइवे का भरपूर हैवी ट्रैफिक गुजरता है और यह पुल क्षेत्र की जीवन रेखा भी कहा जाता है। आपको बता दें इस गंग नहर पर पड़ने वाले अंग्रेजों के समय के सभी पुल 160 पुराने हैं।  संस्था के मुख्य सलाहकार राशिद कुरैशी , अध्यक्ष अरशद इकबाल,  संरक्षक असद गालिब, सिराजुद्दीन मलिक, जावेद सईद ,नदीम खान , तसलीम अहमद, डा फुरकान अहमद, अरशद युसुफ आदि सदस्य शामिल रहे ।