इंस्पेक्टर सुबोध के हत्यारोपी को मिली जमानत

 


पिछले साल गोकशी की आशंका में बुलंदशहर में हुई हिंसा के मुख्य अभियुक्त योगेश राज समेत चार लोगों को को इलाहाबाद हाईकोर्ट से ज़मानत मिल गई है.


इस घटना में हिंसक भीड़ ने यूपी पुलिस के इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की हत्या कर दी थी जबकि सुमित नाम के एक युवक की भी मौत हो गई थी.


घटना के क़रीब एक महीने बाद बजरंग दल के स्थानीय नेता योगेश राज को गिरफ़्तार किया गया था. योगेश राज उन लोगों में शामिल थे, जिन्होंने कथित तौर पर महाव गांव में एक मवेशी का शव मिलने के बाद भड़की हिंसा के दौरान भीड़ को इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह को मारने के लिए उकसाया था.


योगेश राज पर धारा 124 ए यानी राजद्रोह के तहत मामला दर्ज किया गया था. इस मामले में कुछ एक अभियुक्तों को पहले ही ज़मानत मिल चुकी है.


योगेश राज के अधिवक्ता आनंदपति तिवारी ने बताया, "इस मामले में अन्य अभियुक्तों की ज़मानत मंज़ूर हो चुकी है. योगेश राज काफी समय से जेल में बंद हैं. 26 अगस्त को कई अन्य धाराओं में उनकी ज़मानत भी मंजूर हो चुकी है. सिर्फ़ बाद में जोड़ी गई आईपीसी की धारा 124ए में जमानत होनी बाक़ी थी. आज सुनवाई के बाद कोर्ट ने इस मामले में भी उनकी ज़मानत अर्जी स्वीकार कर ली."


*पीड़ित परिवार ठगा हुआ महसूस कर रहा*
इस हिंसा में चालीस से ज़्यादा अभियुक्तों के ख़िलाफ़ राजद्रोह के तहत मुक़दमा दर्ज किया गया था और पुलिस ने दो महीने पहले 44 लोगों के ख़िलाफ़ चार्जशीट भी दाख़िल कर दी थी.


वहीं पिछले महीने कुछ अभियुक्तों को ज़मानत मिल गई. ज़मानत से रिहा होने के बाद 'जय श्रीराम' और 'वंदे मातरम' के नारों के बीच उन लोगों का भव्य स्वागत किया गया जिसकी काफ़ी चर्चा भी हुई थी. मारे गए इंस्पेक्टर की पत्नी ने इस पर ग़ुस्सा जताया था और कहा था कि इसकी शिकायत वो सीएम से करेंगी.


अब मुख्य अभियुक्त योगेश राज को भी ज़मानत मिल जाने पर हिंसा में मारे गए इंस्पेक्टर का परिवार ख़ुद को ठगा हुआ महसूस कर रहा है.


इंस्पेक्टर के बड़े बेटे श्रेय सिंह ने ट्रू स्टोरी से बातचीत में कहा कि सरकार ने ठीक से पैरवी नहीं की, अन्यथा इतना बड़ा मामला था कि ज़मानत न मिलती. उनका कहना था, "साफ़ पता चल रहा है कि इन लोगों ने क्या किया है, फिर भी एक-एक करके सभी को ज़मानत मिल गई. इसमें तो सरकार को मज़बूती से पैरवी करनी चाहिए थी. हमें उम्मीद है कि अब सरकार चेतेगी और अपने एक जांबाज इंस्पेक्टर को न्याय दिलाएगी.।