धरना अखंड ज्योति की स्थापना

 


भ्रष्टाचार एवम् भू - माफियाओं के विरुद्ध गत चौबीस वर्षों से धरना दे रहे मास्टर विजय सिंह ने आज दोपहर दो बजे धरना अखंड ज्योति की स्थापना की ।
मास्टर विजय सिंह का कहना है कि इस अखंड ज्योति की स्थापना का उद्देश्य यह है कि यह अखंड ज्योति धरना का प्रतीक बनेगी और इससे भ्रष्टाचार के विरुद्ध अहिंसात्मक आंदोलन करने वालों को मानसिक बल मिलेगा। अखंड ज्योति इस बात का प्रमाण रहेगी कि देश में इंसाफ की लड़ाई और उम्मीद दोनों अभी ज़िंदा है। इस अखंड ज्योति को जलाए रखना देश के प्रत्येक उस नागरिक का दायित्व है जो चाहता है कि देश के लिए और देश की पिछड़ी और कमजोर जनता के लिए कुछ बेहतर होना चाहिए। अखंड ज्योति को अस्थाई तौर से फिलहाल वर्तमान धरना स्थल शिवचौक पर जलाया जा रहा है। आवश्यकता पड़ने पर अखंड ज्योति धरने के साथ स्थानांतरित होती रहेगी। मेरी इच्छा है कि मेरे बाद भी यह अखंड ज्योति सच्चाई और न्याय के लिए अहिंसात्मक आंदोलन और धरने का प्रतीक बने। 
डॉ अमित धर्मसिंह ने आशा जताई कि यह धरना अखंड ज्योति न केवल मास्टर विजय सिंह के चौबीस वर्षीय सत्याग्रही आंदोलन का प्रतीक बनेगी बल्कि भावी अहिंसात्मक आंदोलनकारियों को मानसिक ऊर्जा प्रदान करेगी। इससे देश में न्याय और हक के लिए सत्याग्रह करने का एक माहौल बनेगा। निसंदेह धरना अखंड ज्योति जगाने का कार्य ऐतिहासिक कार्य है जो हमें हमारे कर्तव्यों और दायित्वों दोनों की याद दिलाती रहेगी। धरना अखंड ज्योति न्यायप्रिय लोगों की प्रेरणा बनेगी और भ्रष्टाचार के विरुद्ध अपनी सशक्त उपस्थिति दर्ज करवाएगी।
धरना अखंड ज्योति के प्रज्जवलन में सर्वश्री कस्तूर सिंह, ब्रह्मजीत, कृष्णपाल, सुमित मलिक, सन्नी धीमान, राजीव पुंडीर, सुमित त्यागी, कर्मसिंह, रजत राजपूत, शक्ति पुंडीर, रजनीश वर्मा, शक्ति राजपूत, रानू चौधरी, राजू पीरना, ओमवीर, आर्यन त्यागी, अब्दुल सलाम, ठाकुर संजू पुंडीर आदि उपस्थित रहे।


Popular posts from this blog

गोरखपुर के कलक्टर विजय किरण आनंद व SSP पर NHRC में केस दर्ज

सिटी सेंटर में हुई लाखो की चोरी का खुलासा, महिला सहित 5 अरेस्ट, 31 मोबाइल व नकदी बरामद

चाऊमीन खिलाने के बहाने घर से बुलाकर ले गए युवक की दोस्तों ने ही सिर में गोली मारकर हत्या