आशिकी के फेर में हुआ था मुकुल का कत्ल

जिस मुकुल को गाड़ी के पीछे बांधकर 15 किलोमोटर तक खींचकर मौत दे दी गई थी उस जधन्य हत्याकाण्ड का खुलासा हुआ है।


मेरठ के खरखौदा और हापुड़ जनपद की सीमांत क्षेत्र में हत्या कर शव फेंकने के मामले का पुलिस ने खुलासा करते हुए आज तीन हत्यारोपियों को गिरफ्तार किया है पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त तमंचा और कारतूस व दो मोटरसाइकिलें भी बरामद की हैं । हत्या का कारण पुलिस से मुखबिरी का शक बताया जाता है , इसके अलावा प्रेम प्रसंग का मामला भी सामने आ रहा है । दो हत्यारोपी अभी फरार हैं ।


दरअसल, मंगलवार को पुलिस को खरखौदा थाना इलाके के धीरखेड़ा में शव मिलने की सूचना मिली थी, पुलिस ने मौके से युवक के शव और उसकी बाइक बरामद की । मृतक के सर में चोट के गंभीर निशान और पैर ज़मीन तक रगड़े मिले ।पुलिस ने जांच की तो शव मिलने के स्थान से खून की छींटें को देखते-देखते हापुड़ तक पहुँच गई ,मृतक की पहचान मुकुल उर्फ भोलू के रूप में हुई । जिसकी हत्या कर शव को हत्यारो ने बाइक पे लादकर मेरठ जनपद की सीमा तक लाए और एनएच 235 की किनारे फेंक दिया ।
पुलिस ने आधार कार्ड से मृतक की पहचाना करते हुए मृतक के परिजनों को बुलाया । शव की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में एक्सीडेंट नही बल्कि हत्या का मामला सामने आया । 
पुलिस मामले की पड़ताल में जुट गई और शव के पास से खून की छींटें तलाशती-तलाशती हापुड़ कोतवाली तक पहुँच गई । 
पुलिस की पड़ताल की तो हत्या की खौंफनाक साजिश का खुलासा हुआ । मुकुल की हत्या उसके दोस्तों ने ही की थी , हत्या का कारण प्रेम प्रसंग और पुलिस से मुखबिरी करने का कारण बताया जाता है । 
पुलिस ने बताया कि मुकुल हापुड़ में अपनी माँ के साथ किराये पर रहता था , उसकी पड़ोस में ही उसके दोस्त आशीष का घर है जहां आशीष, भँवर चौधरी, गुड्डू ,अनुराग और प्रीत त्यागी ने मुकुल के साथ शराब पार्टी की । भँवर चौधरी नाम का आरोपी मृतक से रंजिश रखता था , पार्टी के दौरान नशे की हालत में मुकुल ने गुड्डू पर टिपण्णी कर दी , जिसके बाद चारो ने मिलकर मुकुल की गोली मारकर और गला दबाकर हत्या कर डाली । हत्या की वजह जहां एक आरोपी भँवर सिंह से मृतक की पुरानी रंजिश है ( तमंचे रखने के एक मामले में पुलिस से मृतक द्वारा भँवर चौधरी की मुखबिरी करना ) तो दूसरी वजह मृतक की एक लड़की के साथ प्रेम प्रसंग वजह है ।
आठ घण्टे तक शव को आशीष के घर मे रख कर शव को ठिकाने लगाने की नियत से आरोपियों ने रात्रि में हापुड़ से शव को मोटरसाइकिल पर लादकर 15 किमी तक घसीटते हुए मेरठ में खरखौदा इलाके में एनएच 235 की किनारे खाई में फेंक दिया जिससे ये एक सड़क हादसा लगे ।
पुलिस के खुलासे में लगाई गई स्वाट टीम, क्राइम ब्रांच और किठौर सीओ ने आज खरखौदा थाना क्षेत्र से तीन हत्यारोपियों भँवर चौधरी, आशीष और प्रीत त्यागी को गिरफ्तार किया , दो आरोपी गुड्डू और अनुराग अभी फरार हैं ।
पुलिस ने कहा कि फरार अभियुक्तो की गिरफ्तारी के बाद इस हत्याकांड से कुछ और बिंदुओं से पर्दा उठेगा।