फर्जी प्रमाण पत्रों पर नौकरी करने वाले पर गिरी बर्खास्तगी की गाज

 


अहमद हुसैन 

मेरठ मे सरधना के गांव पिलान  निवासी व्यक्ति पर फर्जी प्रमाण पत्रों पर नौकरी करने के आरोपी पर बड़ी कार्रवाई अमल में लाई गई है। इस मामले में विभागीय कार्रवाई का चाबुक चला और आरोपी को बर्खास्त कर दिया गया इसके बाद अन्य विभागीय कार्यवाही अमल में लाई जाएगी।  सचिन कुमार मलिक कथित सनोज कुमार को बर्खास्त कर दिया गया है। अब आरोपी से 15 वर्षों तक दिए गए वेतन वसूली की कार्यवाही अमल में लाई जाएगी।

आपको बतादें कि फलावदा क्षेत्र से जुड़ा यह प्रकरण तब प्रकाश में आया, जब पिलौना निवासी ईशा चौधरी की ओर से 21 मई को लखनऊ से लेकर पशु पालन विभाग के अनेक सक्षम अधिकारियों को शिकायती पत्र भेजा गया। जिसमें कहा गया कि सचिन कुमार मालिक कथित नाम सचिन कुमार पुत्र रविन्द्र ग्राम पिलौना थाना फलावदा तहसील मवाना का मूल निवासी है। जो सनोज कुमार पुत्र रविन्द्र के नाम से पशुधन प्रसार अधिकारी के पद पर नागौरी केन्द्र पर तैनात है। शिकायत में कहा गया था कि सचिन कुमार ने जिस सनोज कुमार पुत्र रविन्द्र के हाईस्कूल की मार्कशीट और सनद के जरिये पशुपालन विभाग में नौकरी प्राप्त की है, वह बहजादा गांव का रहने वाला है और आर्मी में नौकरी कर रहा है। विभाग ने तत्काल पूरे प्रकरण की जांच शुरू कराई और जिला पशु चिकित्सा अधिकारी को जांच सौंपी।

इस बीच संबंधित व्यक्ति की ओर से विभाग को एक पत्र भेजकर ऐच्छिक वीआरएस लेने की बात कही गई, लेकिन उसे स्वीकार करने के स्थान पर जांच अधिकारी ने अपने प्रमाण पत्र पेश करने को कहा, जिनके आधार पर वह विभाग में नौकरी करता रहा है। जांच में जिला मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डा. अखिलेश गर्ग के साथ उप मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. एसपी पांडेय की टीम में अपनी रिपोर्ट पूरी करते हुए एसएसपी मेरठ को एक पत्र प्रेषित किया था । जिसमें विभागीय जांच के हवाले से कहा गया था कि उपरोक्त व्यक्ति ने फर्जी प्रमाणपत्रों के आधार पर विभाग में नौकरी की है। जिसके विरुद्ध कार्रवाई की जाए। इस संबंध में एसएसपी की ओर से सीओ सिविल लाइन को आदेश जारी कर दिए गए थे । वहीं पशुधन प्रसार अधिकारी पद के नियुक्ति अधिकारी अपर निदेशक ग्रेड-2 मेरठ मंडल पशुपालन विभाग को भी रिपोर्ट प्रेषित कर दी गई थी । जहां से संबंधित व्यक्ति के विरुद्ध विभाग की ओर से 15 वर्ष में दिए गए वेतन की वसूली के संबंध में कार्यवाही बात की गयी थी । इस संबंध में आखिरकार जाँच के बाद आरोपी सचिन मालिक कथित सनोज कुमार के खिलाफ बर्खास्तगी की कार्रवाई 30 दिसंबर 2023 को जारी किया गया है । अब आरोपी से 15 वर्षो के वेतन की भी वसूली की जायेगी ।


अहमद हुसैन

Popular posts from this blog

मदरसों को बंद करने की रची जा रही साजिश.. जमियत ने नोटिसो को बताया साजिश

भोकरहेड़ी में भारी सुरक्षा के बीच निकाली गयी बालाजी शोभायात्रा, कस्बे में हुआ भव्य स्वागत

गंधक व पोटाश मिलाते समय किशोर की मौत