मेडिकल कॉलेज में अब हो सकेगा बच्चों के ब्लड कैंसर का उपचार

 


मेरठ। बच्चों में खून से जुड़ी गंभीर बीमारियों व ब्लड कैंसर के उपचार के लिये अब दिल्ली व अन्य शहर नहीं जाना पड़ेगा। लाला लाजपत राय मेडिकल कॉलेज के हेमोटोलॉजी (रक्त विज्ञान) विभाग को सेंटर आॅफ एक्सीलेंस बनाया जा रहा है। इससे तीस अन्य मेडिकल कॉलेज, जिला अस्पताल,सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों को भी जोड़ा जाएगा। सेंटर में सर के इलाज की दवा व कीमोथेरेपी की व्यवस्था की जाएगी। सेंटर को बनाने के लिये शासन की ओर से मंजूरी मिल गयी है। जल्दी ही मरीजों को यहां उपचारमिलने लगेगा।

....

मेडिकल कालेज के प्राचार्य डा. आरसी गुप्ता ने बताया शासन से मंजूरी मिलने के बाद अस्पताल प्रशासन ने इसके लिए कार्यवाही शुरू कर दी है।मार्च-अप्रैल में मरीजों को उपचार की सुविधा मिलना आरंभ हो जाएगी। मेडिकल कालेज के बाल रोग विशेषज्ञ डा. नवरत्न गुप्ता ने बताया खून से जुड़ी बीमारियों का इलाज करने के लिये अलग से वार्ड बनाया जाएगा। शासन द्वारा कैंसर के इलाज के लिये दवा कीमो थेरपी की व्यवस्था की जाएगी। उन्होंने बताया इस सेंटर को नोएडा में बने चाइल्ड पीजीआई से जोड़ा जाएगा। हापुड़, बिजनौर, बुलंदशहर, गाजियाबाद, नोएडा, बागपत, संभल, शामली,मुजफ्फरनगर, सहारनपुर, अमरोहा, मुरादाबाद, रामपुर, बरेली, बदायूं जिलोंके मेडिकल कॉलेज व जिला अस्पताल से जोड़े जाएंगे। मेरठ की सभी 12 सीएससीको भी इस सेंटर से जोड़ा जाएगा। 

...

मेरठ में अब बच्चों में होने वाले ब्लड कैंसर का उपचार किया जा सकेगा। इसके लिये मेडिकल कॉलेज में सेंटर बनाया जा रहा है, इससे मेरठ के आसपास के मंडलों के मेडिकल कॉलेज व स्वास्थ्य केन्द्रों को जोड़ा जाएगा। मार्च के अंत व अप्रैल के आरंभ में सेंटर क्रियाशील हो जाएगा। शासन की ओर से इसके लिये मंजूरी मिल चुकी है।

डा. आरसी गुप्ता प्राचार्य लाला लाजपत राय मेडिकल कॉलेज, मेरठ

Popular posts from this blog

गोरखपुर के कलक्टर विजय किरण आनंद व SSP पर NHRC में केस दर्ज

शादी में दिखावे की हदे पार, लड़की पक्ष ने विवाह स्थल पर लगवाया फ्लैस्क, लिखा :- गाडी के साढे 7 लाख नकद दिए दूल्हे को

सिटी सेंटर में हुई लाखो की चोरी का खुलासा, महिला सहित 5 अरेस्ट, 31 मोबाइल व नकदी बरामद