20 लाख करोड के पैकेज से कृषि क्षेत्र में  बड़ा उछाल आएगा : विजयपाल तोमर


(अहमद हुसैन)


सरधना ।मोदी सरकार द्वारा विश्वव्यापी कोरोना महामारी को लेकर जारी किए गए 20 लाख करोड के पैकेज में कृषि क्षेत्र हेतु बड़े ऐलान की पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष किसान मोर्चा भाजपा व राज्यसभा सांसद विजय पाल सिंह तोमर ने सराहना की है।  विजयपाल तोमर ने  पत्रकारों के समक्ष कहा कि प्रधानमंत्री  नरेंद्र मोदी ने इस संकट को अवसर में बदल दिया है और देश को आत्मनिर्भर बनाने के लिए और अग्रसर किया है। उन्होंने कहा कि वित्त मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण ने कृषि के संदर्भ में जो महत्वपूर्ण घोषणाएं की हैं उनसे निश्चित रूप से किसानों की आय में वृद्धि होगी उनके लिए रोजगार के नए अवसर सृजित होंगे। 
राज्यसभा सांसद ठाकुर विजय पाल सिंह तोमर ने कहा कि कृषि पशुपालन मछली पालन फूड प्रोसेसिंग उद्योग के लिए इस बड़े ऐलान से बड़ी संख्या में छोटे और सीमांत किसान प्रभावित होंगे चूंकि कृषि क्षेत्र में यह 85 फीसदी अधिक हैं। उन्होंने कहा कि 74 300 करोड़ के फसल उत्पाद (न्यूनतम समर्थन मूल्य) का खरीदा जाना 2  माह में 6400 करोड़ का भुगतान पीएम किसान फंड में 18700 करोड़ रुपए दिया जाना किसान के हित में है। राज्यसभा सांसद विजय पाल सिंह तोमर ने निम्न बड़े एलानो को कृषि के विकास में बड़ा कदम बताया तथा किसानों को राहत देने वाला बताया एक लाख करोड़ रुपए कृषि क्षेत्र में इंफ्रास्ट्रक्चर के लिए दिए जाएंगे इससे कोल्ड स्टोरेज एवं भंडारण क्षमता में वृद्धि होगी फूड एंटरप्राइसेज के लिए 10 हजार करोड़ की घोषणा हर्बल ऑर्गेनिक प्रोडक्ट को बढ़ावा मिलेगा तथा यूपी के आम जम्मू कश्मीर के केसर आंध्र प्रदेश में मिर्ची बिहार में मखाने तथा 2 लाख फूड प्रोसेसिंग यूनिट को फायदा मिलेगा। 155 लाख से ज्यादा लोगों को रोजगार मिलेगा। उन्होंने कहा कि 20 हजार करोड रुपए प्रधान मंत्री मत्स्य पालन योजना के लिए मिलेंगे जिससे 5 साल से 70 लाख टन अतिरिक्त मछली उत्पादन होगी देश में 53 करोड पशुपालन टीका करण होगा डेढ़ करोड़ मवेशियों का टीका करण हो चुका है 13343 करोड रुपए का पशुओं के लिए टीका करण के लिए दिया गया है। 15 हजार डेयरी उद्योग को बढ़ावा मिलेगा। 4 हजार  करोड़ हर्बल खेती को बढ़ावा देने के लिए मिलेगा 2 साल में 10 लाख हेक्टेयर (25 लाख एकड़) बढ़ावा मिला है। 500 करोड़ मधुमक्खी पालन उद्योग को बढ़ावा देने हेतु जिसमें दो लाख से ज्यादा मधुमक्खी पालने वालों को लाभ मिलेगा। 5 हजार सप्लाई चैन को मजबूत करने पर खर्च होंगे आलू प्याज दलहन के भंडारण की लिमिट बढ़ाई जाएगी कृषि में निवेश बढ़ाने एवं प्रतिस्पर्धा बढ़ाने के लिए 1955 के जरूरी सामान की आपूर्ति कानून में बदलाव होगा जिससे किसानों की आय में वृद्धि होगी। किसान किसी भी राज्य में अपना सामान भेज सकेगा कृषि उत्पादन की मार्केटिंग में बदलाव किया जाएगा सरकार कृषि उत्पाद की ट्रेडिंग को बढ़ावा दिया जाएगा उपरोक्त उपायों से देश की अर्थव्यवस्था में गति आएगी किसानों के साथ अन्य तबकों को भी राहत मिलेगी। 
------
अहमद हुसैन
True story


Popular posts from this blog

गोरखपुर के कलक्टर विजय किरण आनंद व SSP पर NHRC में केस दर्ज

सिटी सेंटर में हुई लाखो की चोरी का खुलासा, महिला सहित 5 अरेस्ट, 31 मोबाइल व नकदी बरामद

चाऊमीन खिलाने के बहाने घर से बुलाकर ले गए युवक की दोस्तों ने ही सिर में गोली मारकर हत्या