आज बचाओ जल,   देर हो जाएगी कल

 


(अहमद हुसैन)


विश्व जल संसाधन दिवस  के अवसर पर पर्यावरण धर्म समिति द्वारा आज  समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष जितेंद्र पांचाल के आवास पर जल पूजन करके जल के महत्व पर प्रकाश डाला लॉक टाउन के चलते समिति द्वारा कोई समारोह नहीं किया गया बल्कि समिति अध्यक्ष जितेंद्र पांचाल ने पत्नी v परिवार परिवार के दो बच्चों सहित ब्लॉक डाउन का पालन करते हुए आवास में ही जल पूजन किया। इस अवसर पर जारी प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से पर्यावरण धर्म समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष जितेंद्र पांचाल ने कहा कि जल ईश्वर द्वारा प्रदत एक अमूल्य निधि है जल जीवन का आधार है किंतु आज हमारे जीवन शैली ऐसी हो गई कि हम अमूल्य जल का कदम कदम पर दुरुपयोग कर रहे हैं जहां मनुष्य 10से 12 लीटर पानी में प्रत्येक दिन काम चला सकता है वहां हम 100 से 150 लीटर जल का प्रयोग करने में नहीं चूक रहे हैं आज जल से वाहन धोए जा रहे हैं तथा नहाने की विलासिता में हम जल का अपवय कर रहे हैं आगे बोलते हुए कहा कि इस शताब्दी का सबसे बड़ा संकट जल संकट के रूप में हमारे सामने आएगा जो कोरोने से भी बड़ी त्रासदी होगी अगर हमने जल संरक्षण के प्रति गंभीरता नहीं दिखाई तो वह दिन दूर नहीं जब हम कोरोने की तरह जल त्रासदी के शिकार होंगे और मनुष्य का जीवन घोर संकट में आ जाएगा अतः आज संभलने की आवश्यकता है आज नहीं संभले तो कल हमारे आने वाला समय जल संकट का समय होगा।
--------
अहमद हुसैन
True story