सबसे अधिक कर देने वाले पश्चिमी उत्तर प्रदेश को नहीं मिल रही सुविधाए:रिहानमलिक.


(अहमद हुसैन)


अलग प्रदेश  की मांग को लेकर उत्तम प्रदेश निर्माण संगठन की ओर से एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का। उद्देश्य। इस बड़े प्रदेश से कुछ जिले काटकर अलग उत्तम प्रदेश बनाने  की मांग करना था। सरधना के। देव मंदिर। पर हुए इस कार्यक्रम में। संगठन के प्रदेश अध्यक्ष डॉक्टर  सतेंदर सहित सभी मौजूद लोगों ने। उत्तम प्रदेश बनाने की मांग सरकार से रखी इस कार्यशाला में नगर के बुद्धिजीवी लोगों ने भाग लिया।
आज  सरधना में अलग प्रदेश की मांग करते हुए उत्तम प्रदेश निर्माण संगठन द्वारा कार्यशाला का आयोजन किया गया इस कार्यशाला  का संचालन संगठन के तहसील प्रभारी रिहान मलिक ने करते हुए बताया कि  हमारे पश्चिमी उत्तर प्रदेश में ना तो एनआईटी है ना एम्स है। संगठन के प्रदेशआ अध्यक्ष डॉ सतेन्द्र सिंह ने  बताया कि 15 यूनिवर्सिटीयों में से मात्र  3 यूनिवर्सिटी ही पश्चिम उत्तर प्रदेश में है साथ ही 30 मेडिकल कॉलेज में से मात्र तीन मेडिकल कॉलेज ही हम पश्चिम उत्तर प्रदेश वालों को दिए गए हैं । संगठन के सदस्य मुंशी रिजवान ने बताया कि आज जनसंख्या के मामले में उत्तरप्रदेश संसार के पांचवे बड़े देश के बराबर है और इतने बड़े प्रदेश में कानून एवं प्रशासन की व्यवस्था करना लगभग असंभव है अतः पश्चिम उत्तर प्रदेश को अलग राज्य बनाए जाने की मांग वर्कशॉप में की गई ।
   अंकुर शर्मा ने बताया कि पंजाब से अलग हुये हरियाणा,हिमाचल प्रदेश हो या,महाराष्ट्र से अलग हुआ गुजरात राज्य हो...आज ये विकसित राज्य में शुमार है...इसी तरह उत्तराखंड, झारखंड और छत्तीसगढ़ आज अपने मूल राज्य से कही ज्यादा तरक्की करते नजर आ रहे है। तुषार त्यागी ने बताया कि जब एक करोड की जनसंख्या का उत्तराखंड और ढाई करोड की जनसंख्या का हरियाणा बन सकता है तो 25 करोड की उ० प्र० की जनसंख्या को विभाजित करके 8 करोड का अलग प्रदेश उत्तम प्रदेश  मंजूर ,नितिन , तिलक राम गुर्जर , शम्मी ,परवेज ने अपने विचार रखें,,।


अहमद हुसैन


Popular posts from this blog

गोरखपुर के कलक्टर विजय किरण आनंद व SSP पर NHRC में केस दर्ज

सिटी सेंटर में हुई लाखो की चोरी का खुलासा, महिला सहित 5 अरेस्ट, 31 मोबाइल व नकदी बरामद

शादी में दिखावे की हदे पार, लड़की पक्ष ने विवाह स्थल पर लगवाया फ्लैस्क, लिखा :- गाडी के साढे 7 लाख नकद दिए दूल्हे को