स्वास्थ्य केन्द्रों पर मना रहे अंतराल दिवस

 


 


 


 


 


नोएडा।


 


स्वास्थ्य विभाग की ओर से  परिवारों को नियोजित करने के लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं। राष्ट्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण कार्यक्रम के तहत परिवार को नियोजित करने के लिए कई सुविधाएं दी जा रही हैं। इसी के मद्देनजर परिवार नियोजन की अस्थाई विधियों के प्रोत्साहन के लिये सभी सामुदायिक, प्राथमिक व उप स्वास्थ्य केन्द्रों पर अंतराल दिवस मनाया जा रहा है। इसके लिये जनपद में मंगलवार और गुरुवार का दिन निर्धारित किया गया है। मंगलवार को शहरी स्वास्थ्य केन्द्रों पर और गुरुवार को ग्रामीण स्वास्थ्य केन्द्रों पर मनाया जा रहा है।


 परिवार नियोजन के नोडल अधिकारी अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा वीबी ढाका ने बताया परिवार नियोजन की अस्थायी विधियों को  लोगों तक पहुंचाने के लिए शासन की ओर से निर्देश जारी किये गये हैं। इसी के तहत जिले की सभी चिकित्सा इकाइयों पर अंतराल दिवस मनाया जा रहा है। यह मंगलवार को शहरी क्षेत्रों और गुरुवार को ग्रामीण चिकित्सा इकाइयों पर मनाया जा रहा है। इस दिवस के अलावा समुदाय के लिये परिवार नियोजन के अस्थाई साधनों को हर दिन उपलब्ध कराया जाएगा।


जिला परिवार परिवार नियोजन विशेषज्ञ दीप्ति सिंह ने बताया अंतराल दिवस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य शादी के दो साल बाद पहला बच्चा और पहले व दूसरे बच्चे के बीच तीन साल का अंतराल रखना है। उन्होंने बताया अंतराल दिवस पर इच्छुक लाभार्थी को लाने की जिम्मेदारी आशा कार्यकर्ता व आशा संगिनी को दी गयी है। इसके लिये उन्हें कार्यक्रम से पूर्व दो दिन इसका प्रचार व प्रसार करना होता है। 'परिवार नियोजन में निभाएं जिम्मेदारी, मॉ और बच्चे के स्वास्थ्य की पूरी तैयारी' इसकी थीम रखी गयी है।


उन्होंने बताया अंतराल दिवस पर अस्पतालों  में पंजीकरण काउंन्टर लगाया जाता है। पंजीकरण के बाद लाभार्थी को परार्मश कक्ष में भेजा जाता है। इस दौरान कार्यक्रम स्थल पर प्रचार व प्रसार सामग्री उपलब्ध रहती। कार्यक्रम के दौरान अंतरा, कंडोम,  ओरलपिल्स छाया आदि सेवाओं के बारे में विस्तृत रूप से बताया जाता है। उन्होंने बताया इसके लिये आशा कार्यकर्ताओं को प्रोत्साहन राशि देने का भी प्रावधान है।


Popular posts from this blog

शादी में दिखावे की हदे पार, लड़की पक्ष ने विवाह स्थल पर लगवाया फ्लैस्क, लिखा :- गाडी के साढे 7 लाख नकद दिए दूल्हे को

इस्लामिया इंटर कालिज के वजूद पर खतरा मंडराया

समाज को शिक्षित व सुरक्षित रखने का संदेश दिया